सबसे पहले आपको ध्यान की मुद्रा में बैठना है और पूरी तरह से सांस लेने पर ध्यान केंद्रित करना है।

सबसे पहले आपको ध्यान की मुद्रा में बैठना है और पूरी तरह से सांस लेने पर ध्यान केंद्रित करना है।

साथ ही आपको पूरी एकाग्रता के साथ योग का अभ्यास करने का दृढ़ संकल्प अपनाने की जरूरत है।

नियमित रूप से योग का अभ्यास न केवल शरीर के लिए बल्कि मन के लिए भी बहुत अच्छा है। योग प्रशिक्षक सविता यादव हमें सिखाती हैं कि अपने सत्रों के माध्यम से सूर्य नमस्कार करके किसी के स्वास्थ्य में सुधार कैसे किया जाए। उनके अनुसार, वयस्कों और बच्चों दोनों के लिए, शरीर और आत्मा के सर्वांगीण विकास के लिए सूर्य नमस्कार बेहद फायदेमंद है। इस विशेष व्यायाम को करते समय सांसों का ध्यान रखना बहुत जरूरी है। वह कहती हैं कि योग करने से मोटापा कम होता है और शरीर की रोगों के प्रति प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। हालांकि, वह कहती हैं, सूर्य नमस्कार के लिए जाने से पहले छोटे-छोटे व्यायाम करना बहुत जरूरी है। यहां उन सभी क्रियाओं की सूची दी गई है, जिन्हें आपको सूर्य नमस्कार करने से पहले करने की आवश्यकता है:

सबसे पहले आपको ध्यान की मुद्रा में बैठना है और पूरी तरह से सांस लेने पर ध्यान केंद्रित करना है। साथ ही आपको पूरी एकाग्रता के साथ योग का अभ्यास करने का दृढ़ संकल्प अपनाने की जरूरत है।

इसके बाद वज्रासन की मुद्रा में चटाई पर बैठ जाएं। अगर आपका वजन अधिक है तो आपको अपने पैरों को खुला रखकर बैठना चाहिए। कुछ देर इसी मुद्रा में बैठने की कोशिश करें और हो सके तो योग मैट पर भी अपने आप को इसी मुद्रा में रखते हुए चलने की कोशिश करें। अगर आपको अकेले पैरों का इस्तेमाल करके ऐसा करना मुश्किल लगता है, तो आप अपने हाथों की मदद भी ले सकते हैं। ऐसा करने से आपको कब्ज की समस्या से निजात मिल जाएगी।

एक बार यह हो जाने के बाद आप आराम से बैठ सकते हैं और अपने पैरों को अपने सामने फैलाकर बैठ सकते हैं। फिर अपनी जाँघों को पेट के पास लाएँ और बाद में उन्हें दूर धकेलें। इस अभ्यास के लिए आपके शरीर की मुख्य शक्ति के अनुप्रयोग की आवश्यकता होती है। पैरों को छाती की ओर ले जाते समय सांस लेने में सावधानी बरतें और उन्हें दूर ले जाते समय सांस छोड़ें। अपनी छाती को सीधा रखते हुए ऐसा 8 से 10 बार करें।

इसके बाद कमर को सीधा रखते हुए तितली आसन का अभ्यास करें। इस दौरान सांस का ध्यान रखें और अपनी क्षमता के अनुसार कुछ देर तक करें। इसके बाद पद्मासन की ओर बढ़ें।

सभी नवीनतम समाचार, ब्रेकिंग न्यूज और कोरोनावायरस समाचार यहां पढ़ें

.