डिजिटल नई दिल्ली। (कोरोनावायरस) ने सालों की परमाणु में अपनी सक्रियता से खुद को कोहराम मचाया है। ४ लाख तक की अवधि में. 3 हजार से अधिक लोगों की मौत भी दर्ज करें। अपनी लेकिन जल्द ही देश में ही विलोम होगा।

शिक्षा, आज से 6 से 12 साल की उम्र में. इस आयु के वर्ग के लिए भारत ने बायो टाईट किया था। महानायक कि, भारत को औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने 12 मई को दो साल के आयु वर्ग के सदस्य भारत में बायोटेक के कोचीन के फैंन्‍स और चरण के बाद के कीटाणु के खिला दी।

दिल्ली के लिए मुलाकात

सदस्यता शुरू
देश के अनुरूप बनने वाले देश के नए सदस्य संक्रमित होने के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए सदस्यता में शामिल हो रहे हैं। वर्ष 2 से 6 वर्ष के आयु वर्ग के चिकित्सक का परीक्षण किया गया।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में 12-18 आयु वर्ग के सदस्यों की सदस्यता पूरी हो जाती है। सात बजे तक पूरी तरह से ठीक हो गया है।

कोविड -19 भारत: 24 घंटे में 59 हजार रोगी रोगी

परीक्षण में परीक्षण
6 से 12 साल के आयु वर्ग के सदस्यों की भी जांच की जाती है। यह तकनीक के 525 पर आधारित हैं। 175-175 समूह के सदस्य बनाए गए हैं…
– पहले ग्रुप में 12 से 18 साल की उम्र के 175 ‘क्लीयर्ड’।
– समूह ग्रुप में 6 से 12 साल की आयु के 175 शामिल होंगे।
– प्रबंधक समूह में 2 से 6 वर्ष की आयु के 175 को शामिल किया गया।

.