17.9 C
New Delhi
Tuesday, February 27, 2024

Subscribe

Latest Posts

‘अंतरराष्ट्रीय संस्थाएं क्यों चुप’, हमास की इजराइली महिलाएं रेप पर बोले नेतन्याहू


छवि स्रोत: एएनआई
इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू

बेंजामिन नेतन्याहू समाचार: इजराइल और हमास में 7 अक्टूबर से जंग की शुरुआत हुई। इस जंग के बीच हमास के ‘काले कारनामों’ पर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार कार्यकर्ताओं पर सवाल उठाते हैं। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमास के खिलाफ इजराइली महिलाओं के खिलाफ रेप और अन्य अत्याचारों के बारे में बात की है।

इजराइली ऑफिस ने अपना आधिकारिक ‘एक्स’ हैंडल पर पोस्ट किया। इसमें लिखा है कि “इसमें मुख्य महिला अधिकार, मानवाधिकार, मानवाधिकारों के बारे में बताया गया है कि ‘आपने इजराइली महिलाओं के बलात्कार, अत्याचार, यौन उत्पीड़न के बारे में सुना है- आप कहां हैं?’ नेतन्याहू ने इज़राइली महिलाओं को अंतर्राष्ट्रीय द्वीपसमूह के द्वीपों पर हमास के आतंकवादियों के हाथों पर हमला करने के लिए कहा।

‘दुनिया की राजधानी इजराइली लोगों पर हमले बोले गए’

नेतन्याहू ने कहा, ”मैं सभी सैन्य नेताओं, विद्रोहियों, देशों से इस विद्रोहियों के खिलाफ उम्मीद करता हूं।’ उन्होंने अवीव में रक्षा मंत्री योव गैलेंट और मंत्री बेनी गैंट्ज़ के साथ एक पत्रकार सम्मेलन में यह टिप्पणी की। द टाइम्स ऑफ इजराइल की रिपोर्ट में नेतन्याहू ने कहा कि उन्होंने बंधक बंधकों को छुड़ाया और पहले भी बंधक बनाए गए लोगों के रिश्तेदारों से मुलाकात की। इस मुलाकात में वहां मौजूद लोगों ने शत्रुतापूर्ण और तूफ़ानी के बारे में बताया।

जानिए क्या बोले इजराइली रक्षा मंत्री?

टाइम्स ऑफ इजराइल के अनुसार, रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने कहा कि हमास पर दबाव बनाना जरूरी था, बंधकों को घर वापस लाया जा सकता था, इसलिए आई फॉक्स ने जमीनी हमले भी किए। गैलेंट ने कहा कि “ज़मीनी ऑपरेशन के लिए मानवीय सहायता की आवश्यकता है और सैन्य दबाव को सक्षम करने के लिए न्यूनतम मानवीय सहायता प्रदान की जाती है।” गाजा में बैलून लीज पर, गैलेंट का कहना है कि, बदले में, इजराइल को “मांग करने का अधिकार” है कि हमास रेड क्रॉस को बंधकों से मिलने के लिए अपनी देनदारी का सम्मान करें या कम से कम आय प्रदान करें और अन्य सही का ध्यान रखें।

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss