35.1 C
New Delhi
Sunday, April 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

एलटीटीई के प्रमुख संगठन से कहां, कैसे मिले हरदीप पुरी? ‘आपकी अदालत’ में ‘आखिरी किस्सा’


छवि स्रोत: इंडिया टीवी
‘आपकी अदालत’ में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी

नई दिल्ली: सेंट्रल कोर्ट और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप पुरी ने सिल्वर शर्मा के शो ‘आप की’ में एक राजनयिक के रूप में अपने कार्यकाल के दौरान एक गुप्त मिशन का किस्सा भी दिखाया। उन्होंने बताया कि 1987 में श्रीलंका पोस्टिंग के दौरान वह टीटीई के प्रमुख संगठन से कैसे मिले थे और शांति के लिए उन्हें राजी कर लिया था। इस एपिसोड का प्रसारण आज रात इंडिया टीवी पर हो रहा है।

अँधेरे में लैंडमाइन के समुद्र तट पर जाएँ

इस एपिसोड में हरदीप पुरी ने अपने 39 साल लंबे डिप्लो आर्टिस्ट के बहुत सारे अनुभव साझा किए, कई राज़ खोले। हरदीप पुरी ने बताया कि जब उनकी पोस्टिंग थी, तो वो उत्तरी श्रीलंका के जाफना के जंगलों में एलटीटीई के प्रमुख संगठन से मिले, रात के अंधेरे में लैंडमाइन के बीच उन्हें जाना पड़ा। कैसे नोबेल पुरस्कार विजेता को शांति के लिए तैयार किया गया, फिर एक बार जब आप जानते हैं कि कैसे नोबेल पुरस्कार विजेता को हेलीकॉप्टर में शामिल किया गया है, तो राजीव गांधी से उनकी मुलाकात हुई। हरदीप पुरी ने कहा, ‘रास्ते में बारूदी सुरंगें और हमले से बचने के लिए हमें रात में यात्रा करनी पड़ी। हमारे सैन्य सलाहकार भारतीय नौसेना के एक अधिकारी थे। यह एक गुप्त मिशन था। यह मेरे लिए प्रोफेशनल तौर पर बड़ा काम था।’

पाकिस्तान का पिट्ठू है पी बॉलायन्स

हरदीप पुरी ने इस एपिसोड में खालिस्तान और कनाडा को लेकर जुड़े सवालों का भी जवाब दिया। उन्होंने बताया कि खालिस्तानी हमलावर पी बॉल्स कौन है, कहाँ रहता है, उसका गुप्तचर क्या है, पैसे कौन देता है, वो नरसंहार पर काम कैसे करता है और वो अमेरिका और कनाडा में भारत के खिलाफ़ साजिशें रचता है। हरदीप पुरी ने बताया कि गुरपतवंत सिंह पी बॉल्स पाकिस्तान का पिट्ठू है, आईएसआई की स्थापना पर काम करता है, मस्जिद से उसके पास पैसा है, उसका एक प्रमुख व्यवसाय हजरत मोहम्मद सलमान यूनुस है, और दोनों मिल कर आई के संस्थापक पर काम करते हैं।

पाक अधिकृत कश्मीर जल्द ही भारत में शामिल होगा

इसके साथ ही हरदीप पुरी ने पाक के कब्जे वाले कश्मीर को लेकर भी अपनी सहमति जाहिर की। हरदीप पुरी ने कहा, ‘पाकिस्तान की आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई है कि कुछ समय बाद वहां के कुछ हिस्से भारत में मिल जाएंगे।’ जब उनसे पूछा गया कि ऐसा कब तक होगा, तो उन्होंने कहा- जल्दी। हरदीप पुरी ने कहा, ‘पिछले नौ वर्षों में भारत-पाकिस्तान में काफी बदलाव आए हैं। अब भारत को पाकिस्तान के साथ टैग नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ये मोदी का कारण संभव है।

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss