17.9 C
New Delhi
Tuesday, February 27, 2024

Subscribe

Latest Posts

बॉम की वास्तुकला के बारे में जानकारी प्राप्त करें तो आपका स्वागत है


छवि स्रोत: इंडिया टीवी
वैभवशाली वैभव के स्वागत में बरसाना भीड़।

महाराष्ट्र के नालासोपारा से हैरान करने वाला मामला सामने आया है। बम धमाका करने की साजिश रचने का आरोप साल 2018 में जेल में बंद एक अपराधी से जमानत पर मुलाकात के बाद बड़ी संख्या में लोग उसके स्वागत के लिए गए। मूलभूत के ताज्जुब ने बैंड-बाजे के साथ और फोड़कर धूम-धाम से उनका स्वागत किया। बता दें कि वैभवशाली वैभवशाली 5 साल बाद ज़मानत मुलाकात के बाद नालासोपारा आया था। आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला।

बम की साजिश का आरोप

महाराष्ट्र एटीएस ने साल 2018 में हिंदू गोवंश रक्षा समिति और सनातन संस्था के सदस्य वैभव नाम के शख्स को गिरफ्तार किया था। उसपर यूएपीए के तहत मामला दर्ज किया गया था। वैभव पर साल 2017 में पुणे में होने वाले सनबर्न फेस्टिवल में बम धमाका करने की साजिश रचने का आरोप लगा था। इस मामले में उन्हें 5 साल बाद कोर्ट से जमानत मिल गई। जब वह नालासोपारा आये तो उनका भव्य स्वागत धूम-धाम से किया गया और फिर उनके घर के बाहर रंग-रोगन कराया गया।

हाई कोर्ट ने दी जमानत
वैभव को कच्चे बम बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। वैध अनुदान समय, उच्च न्यायालय ने पाया कि क्रांतिकारी के खिलाफ यह पुष्टि नहीं हुई थी कि उसने बम बनाया था। हाई कोर्ट ने इस तथ्य पर भी ध्यान दिया कि जिस गोदाम से बम बरामद किए गए थे, वह पौराणिक कथाओं का नहीं था। वैभव के वकील सना रईस खान ने कहा था कि जिस कंपनी के पास से देसी बम बरामद हुआ था, वह भी किसी और का था, न कि किसी का। कोर्ट ने 20 सितंबर को वैभव को जमानत देते हुए कहा था कि वह 5 साल से ज्यादा समय जेल में बंद है और इस मामले की सुनवाई जल्द ही खत्म होने की संभावना नहीं है।

3 अन्य को पहले मिली ही ज़मानत
इस मामले में तीन अन्य चार लोगों को पहले ही जमानत दी जा चुकी है। वैभव के वकील सना ने बताया कि अभियोजन पक्ष ने वैभव परबर्न सन प्रोग्राम की रेकी करते हुए सामुहिक विश्वविद्यालय में कैद होने का आरोप लगाया था। हालाँकि, आज तक ऐसा कोई भी फुटेज रिकॉर्ड में नहीं आया है। उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में माना कि जिस स्थान पर कथित तौर पर बम बरामद किया गया था, वह बिल्डर के पास नहीं था तो उसका आवास था और न ही उसका मकान था। (रिपोर्ट: हनीफ पटेल)

ये भी पढ़ें- सैकड़ो क्यों बच्चे गोद लेने के इंतज़ार में, प्रक्रिया को रोक कर रखा गया करा:सुप्रीम कोर्ट

ये भी पढ़ें- शहर में ताला बड़ा हादसा, एलपीजी सिलेंडर से गिरी थी 10 किलो आईईडी, भारतीय सेना ने दिया बयान



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss