27.9 C
New Delhi
Wednesday, April 17, 2024

Subscribe

Latest Posts

दूध में छिपा हुआ है ये सफेद बीज का खजाना…


छवि स्रोत: FREEPIK
तिल के लड्डू स्वास्थ्य लाभ

ओरिएंट की शुरुआत हो चुकी है। आपके लिए ठंड से बचाव के लिए आप तिल के दूध को निश्चित रूप से स्थापित कर सकते हैं। सफेद का सेवन आमतौर पर गुड़ के साथ किया जाता है क्योंकि यह कई तरह के स्वास्थ्य प्रदान करता है, वहीं गुड़ के लड्डू का सेवन करने से तिल में आपके शरीर को गर्म रखने में मदद मिलती है। हम यहां आपको तिल और गुड़ बने के लोध के प्रयोग के बार में बताते हैं।

एलओडी बनाने के लिए सामग्री

  • तिल – 1 कप
  • गुड़ – 1 कप
  • देसी घी – 1 चम्मच

दूध बनाने की विधि

तिल का लोध बनाने के लिए सबसे पहले एक कड़ही में तिल का ताड़ का मिश्रण स्टॉक पर मिला। तिल को गुलाबी होने तक पोर्टफोलियो। कड़ही में 1 देसी घी डाला जाता है और बाद में गुड़ दाल और व्यंजन पर उसकी पसंद तैयार की जाती है। जब तक गुड़ पूरी तरह पिघल न जाए तब तक वह जीवित रहे। बेशुमार होने तक गुड़ को चूमें। पिघले गुड़ में भुनी हुई तिल को अच्छी तरह से मिक्स कर लें। जब यह मिश्रण थोड़ा ठंडा हो तब गोल आकार में लोध बनाना शुरू कर दिया। स्वाद से भरपूर तिल के लोध बनकर तैयार हैं।

  • बढ़ी हुई प्रतिरक्षा – कहते हैं तिल में जिवन काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है। आयरन, सेलेनियम, कॉपर, विटामिन बी 6 और विटामिन ई इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने में मदद करें।
  • जोड़ों के दर्द में करे मदद- तिल के बीज में सेस्मिन नाम का एंटीऑक्सीडेंट पाया जाता है, जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट प्रभाव होते हैं। यह दांतों के कार्टिलेज को सुरक्षित रखता है जिससे दांतों के दर्द को कम करने में मदद मिलती है।
  • दिल के लिए अच्छा- तिल के बीज मैग्नीशियम में उच्च होते हैं जो लो ब्लड बनाने में मदद कर सकते हैं। इसके अलावा तीन एंटीऑक्सीडेंट हृदय स्वास्थ्य के लिए प्लाक ग्रुपअप को रोकने में मदद कर सकते हैं इसलिए आराम में तिल और गुड़ के लोध अवश्य खाने चाहिए।
  • ब्लड शुगर को नियंत्रित करना- तिल में कार्बोहाइड्रेट काफी कम मात्रा में पाया जाता है और इसके सेवन से ब्लड शुगर को नियंत्रित किया जा सकता है।

मसाला पर जमने लगी है पपड़ी? खोया हुआ है खून, चमत्कारी ये नुस्खे, फूलों की तरह कोमल हो जायेंगे होंठ

नवीनतम जीवन शैली समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss