35.1 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

Subscribe

Latest Posts

श्रीलंका: राष्ट्रपति विक्रमसिंघे ने बनाया था संग्रहालय, जानें किसका बदला विभाग?


छवि स्रोत: फ़ाइल
श्रीलंकाई राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे।

श्रीलंका के राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे ने अपना मंत्रालय बना लिया है। इस उपभोक्ता के अनुसार उन्होंने अपने दो इंजीनियरों के विभाग बदले। उधर, प्लास्टिक दल अपनी आलोचना कर रहे हैं कि अगले साल होने वाले संकट के बीच सरकार चुनावों को स्थिर करने की रचना कर रही है। लेकिन रानिल विक्रमसिंघे ने आलोचकों की बातों को डार्किनार करते हुए मंत्रालय में शामिल कर लिया है।

रामबुकेला के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाया गया

स्वास्थ्य मंत्री केहेलिया रामबुकेला को पर्यावरण मंत्रालय में स्थानांतरित किया गया है। 69 वर्ष रामबुकवेला के विरुद्ध श्रीलंका की संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाया गया। हालाँकि, प्रस्ताव रद्द होने के कारण रामबुकवेला को पद से नहीं छोड़ा गया। थोक व्यापारी ने स्वास्थ्य मंत्री के आचरण पर सवाल उठाते हुए विकलांगता, श्रमिक और कुप्रबंधन जैसे आरोप लगाए थे।

भारत की कंपनी पर पूर्व स्वास्थ्य मंत्री का आरोप

स्वास्थ्य मंत्रालय में अब उद्योग मंत्री रमेश पथिराना का कार्यभार संभाला गया है। पाथिराना एक डॉक्टर भी हैं। बता दें कि रामबुकवेला ने पहले एक पखवाड़े में एक भारतीय कंपनी की ओर से कथित तौर पर घटिया दवा की आपूर्ति के मामले में पुलिस को जांच का आदेश दिया था। हालाँकि, भारतीय कंपनी ने श्रीलंका में ऐसी किसी भी दवा की आपूर्ति को अस्वीकार कर दिया था।

विक्रमसिंघे के पास का पर्यावरण मंत्रालय था

स्वास्थ्य मंत्री के अलावा पर्यावरण मंत्रालय में भी काम किया गया है। मंत्रालय पर्यावरण स्वयं राष्ट्रपति विक्रमसिंघे सहायक रहे थे। हालाँकि, श्रीलंका की अदालत के आदेश के बाद उन्हें संसद के सदस्य के रूप में अयोग्य घोषित कर दिया गया था। ऐसे समय में डेमोक्रेट्स के संस्थापक विक्रमसिंघे ने इस बात की आलोचना की है कि राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे अगले साल होने वाले हैं। हालांकि, विक्रम सिंघे ने रविवार को इस बात पर जोर दिया कि राष्ट्रपति और संसदीय चुनाव के आधार पर अगले साल ही जाएंगे। इसमें किसी को संदेह नहीं होना चाहिए।

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss