25.1 C
New Delhi
Wednesday, April 17, 2024

Subscribe

Latest Posts

जल्द ही मंदिर के गर्भगृह में पधारेंगे रामला, श्रीराम की मूर्ति बने ये शिल्पकार


छवि स्रोत: फाइल फोटो
जल्द ही राम मंदिर के गर्भगृह में विराजेंगे रामलला

अयोध्या: राम भक्तों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है, जल्द ही रामलला अयोध्या राम मंदिर के गर्भगृह में विराजमान होंगे। जानकारी के अनुसार जनवरी 2024 में भगवान राम अपने मूल गर्भगृह में विराजेंगे, क्योंकि रामलला की मूर्ति बनाने का इंतजार अब समाप्त हो गया है। राम मंदिर में कर्नाटक से लाए गए श्यामशिला पर मैसूर की मूर्तिकार अरुण योगीराज भगवान राम की मूर्ति को तैयार करेंगे। उन्हें ही प्रभु श्रीराम की मूर्ति तैयार करने की जिम्मेदारी मिली है। ऐसे में अब जल्द ही लोगों को रामलला के दिव्य दर्शन करने का स्वर प्राप्त होगा।

राम मंदिर ट्रस्ट की हुई मीटिंग में गए अहम फैसला

राम मंदिर का निर्माण को लेकर मंदिर ट्रस्ट की दो अनौपचारिक बैठक की गई जिसमें राम मंदिर में भगवान राम लला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर मंथन किया गया। इसकी पहली समिति ने राम जन्मभूमि परिसर और रामसेवकपुरम का अवलोकन किया। ट्रस्ट की तरफ से दी गई जानकारी है कि प्राणियों की रिश्तों के लिए राय से राय ली जाती है। रामलला की मूर्ति बनाने का भी फैसला लिया गया, जिसके लिए मूर्तिकार अयोध्या पहुंच गए।

इस बैठक में राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय, उडुप्पी पादधीश्वर विश्व तीर्थ प्रभाराचार्य, कामेश्वर चौपाल, अयोध्या राजा विमलेंद्र मोहन मिश्र, डॉ अनिल मिश्रा, निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेंद्र दास के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ट्रस्ट के न्यायाधीश गोविंददेव गिरी भी मौजूद हैं रहे।

जनवरी 2024 में प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा होगी

राम मंदिर के ट्रस्ट के प्रमुख सदस्य उडुप्पी पेजावर मठ के पीठाधीर विश्व तीर्थाचार्य ने बताया कि ग्राफ्टिंग कार्य चल रहा है और जून तक मंदिर की छत को ढालने का कार्य पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि मंदिर में भगवान के प्राण प्रतिष्ठा जनवरी 2024 सूर्य उत्तरायण ही आते हैं के लिए ज्योतिषचार्य से तिथि पर मंथन किया जा रहा है। इस दौरान किस प्रकार का उत्सव होगा इसकी तैयारी की मई माह में होने वाली बैठक पर विचार किया जाएगा।

कैसी होगी भगवान राम की प्रतिमा

उन्होंने बताया कि मूर्ति किस प्रकार से बनेगी, इसके लिए सभी छवियों को एकत्र करके फाइनल कर दिया गया है। बताया गया है कि भगवान रामलला की मूर्ति 5 साल की उम्र वाले मुख में मधुर मुस्कान और रूठ मुद्रा में हाथ में धनेश्वर लिए हुए होंगे। वहीं कहा कि कर्नाटक के कारकर और हिग्रेवनकोटे गांव से लाये गए सीढ़ियों से मूर्ति का निर्माण किया जाएगा। मैसूर की मूर्तिकार अरुण योगीराज मूर्ति बनाने के लिए अयोध्या पहुंचे हैं।

अयोध्या से अरविंद की खबर

ये भी पढ़ें:

दिल्ली-एनसीआर समेत कुछ राज्यों में ब्राइट होंगे क्लाउड, बिहार-यूपी में ज्यादा हीटवेव, आज कैसा रहेगा सीजन?

आपराधिक नेता मुकुल रॉय को क्या हुआ है? जाड़ा पर अड़े- ‘मैं बीजेपी में ही रहना चाहता हूं’, बीजेपी नेताओं ने कसा तंज

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss