34.1 C
New Delhi
Tuesday, July 16, 2024

Subscribe

Latest Posts

केरल ब्लास्ट केस के पीछे के अवशेषों का हाथ, जांच मस्जिद में तोड़फोड़


छवि स्रोत: इंडिया टीवी
जांच केरल केला ब्लास्ट की तस्डीक में देखी गई हैं।

केरल के कलामसेरी में ईसाई समुदाय के कार्यक्रमों में रविवार को हुए धमाकों की जांच गहराई से हो गई है। इंडिपेंडेंट का मानना ​​है कि सीरियल ब्लास्ट के पीछे के पात्रों का हाथ है। जानकारी दे दें कि डॉमिनिक मार्टिन के बयान के बाद इस मामले की गहनता से जांच जारी की गई है। हॉल में प्रार्थना शुरू होने के 5 मिनट के अंदर ही धमाका हो गया। बता दें कि इस ब्लास्ट के समय हॉल में 2,000 से ज्यादा लोग मौजूद थे। जिसमें करीब 52 लोग घायल हैं। इस हादसे की जिम्मेदारी लेते हुए एक स्पेशलिस्ट ने खुद को सेरेंडर भी किया है। इस हदस में 3 लोगों की मौत हो गई।

12 साल की बच्ची नेकास्टेरियम दम

एर्नाकुलम जिले के मलयत्तूर के लिबिना में 12 साल के बच्चे की कलामासेरी सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में आज सोमवार को मौत हो गई। अस्पताल ने जारी बयान में कहा कि जिस बच्चे को रविवार सुबह अस्पताल में भर्ती कराया गया था, उसके शरीर का 95 प्रतिशत हिस्सा गंभीर रूप से जल गया था। सहायक समर्थन मिलने के बावजूद उसका परिणाम सामने आया, जिससे देर रात 12.40 बजे उसकी मृत्यु हो गई। कन्वेंशन सेंटर में हुए विस्फोट में यह तीसरी मौत है। इससे पहले रविवार को ही इस सभा में दो महिलाओं की जान चली गई थी।

जांच पड़ताल कर विस्तृत पूछताछ

सेरेंडर करने वाले का नाम डोमिनिक मार्टिन है। जांच वैज्ञानिक डॉमिनिक मार्टिन से पूछताछ में निष्कर्ष निकाले गए हैं। हालाँकि अभी तक की पूछताछ में मार्टिन को यह नहीं बताया गया कि उसे ब्लास्ट में आईईडी और विस्फोटक विस्फोटक से मिलाया गया था। इस प्रश्न का भी स्पष्ट उत्तर नहीं मिल पाया कि आईईडी से बम बनाने का तरीका क्या है। सवाल यहां धमाकों की टाइमिंग को लेकर भी है क्योंकि शुक्रवार को ही केरल में हमास के समर्थन में एक बड़ी रैली का आयोजन किया गया था, जिसमें हमास के एक नेता ईशा मशाल ने लोगों को संबोधित किया था।

केरल में मौजूद है पीएफआई का गढ़

इज़राइल के समर्थन में पास किए गए रिज़ॉल्यूशन के आयोजन संगठन ने इन सीरियल ब्लास्ट को अंजाम दिया। हालाँकि ब्लास्ट में प्रयुक्त विस्फोटक के टुकड़ों को दस्तावेज़ जांच के लिए भेजा गया था। बता दें कि केरल में पीएफआई का पूरा गढ़ मौजूद है, जो आपके संगठन पर प्रतिबंध के बाद किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में था, जांच वैज्ञानिक इसी एंगल से पीएफआई कनेक्शन की भी तफ्तीश में शामिल हैं।

ये भी पढ़ें:

केरल ब्लास्ट: इस शख्स ने ली केरल में निभाई पवित्रता की जिम्मेदारी, सरेंडर भी किया, पुलिस कर रही पूछताछ

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss