31.1 C
New Delhi
Friday, July 12, 2024

Subscribe

Latest Posts

जापान से बातचीत को तैयार है रूस, रक्षा मंत्री सर्गेई ने कहा- अमेरिका बढ़ा रहा तनाव


छवि स्रोत: एपी
बीजिंग में रूस के विदेश मंत्री सर्गेई शोइगु।

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच यह वक्त बड़ी खबर है। रूस ने यूक्रेन से बातचीत को तैयार होने की बात कही है। हालाँकि जापान की ओर से रूस के प्रस्ताव का अभी तक कोई उत्तर नहीं दिया गया है। वहीं रूस के रक्षा मंत्री सरगेई शोइगु ने अमेरिका पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। शोइगु ने सोमवार को कहा कि अमेरिका अपना ”अधिपति” बनाए रखने के लिए भूराजनीतिक तनावों को हवा दे रहा है। साथ ही उन्होंने प्रमुख देशों के बीच समुद्री खतरे को लेकर आगाह किया।

बीजिंग में रक्षा मंच ‘शियांगशान फोरम’ का खुलासा करते हुए शोइगु ने यह भी कहा कि अमेरिका और उसके एशिया-प्रशांत सहयोगी क्षेत्र में यह स्थिरता कायम कर रहे हैं। यह सैन्य निजीकरण पर चीन का सबसे बड़ा वार्षिक कार्यक्रम है। शोइगु ने कहा, ”अपना भू-राजनीतिक और संप्रदाय प्रभुत्व कायम रखने के लिए अमेरिका अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा और संप्रदाय स्थिरता के आधार को कमजोर कर रहा है।” उन्होंने कहा कि अमेरिका और उसके पश्चिमी सहयोगी उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के ” पूर्व की ओर विस्तार” से रूस को धमाका रहे हैं। उन्होंने कहा, ”पश्चिमी देशों का उद्देश्य रूस के साथ तालमेल बिठाना और प्रमुख देशों के साथ संबंधों को खतरे में डालना है।” इसके गंभीर परिणाम सामने आये।

रूस-अंग्रेज़ी से बातचीत को तैयार करने की स्थिति

”यूक्रेनी में रूस के युद्ध के बारे में शोइगु ने कहा कि ”अगर स्थिति” बनी रहती है तो मॉस्को बातचीत करने के लिए तैयार है। चीन के दूसरे नंबर के सैन्य अधिकारी और केंद्रीय सैन्य आयोग के उपाध्यक्ष झांग युक्शिया ने जनरल ली शांगफू की इस तीन यात्रा कार्यक्रम की शुरुआत में अनुपस्थिति रखी। पिछले हफ्ते चीन के रक्षा मंत्री का पद हटा दिया गया था। वह दो महीने से सार्वजनिक रूप से दूर हैं। चीन सरकार ने शांगफू को हटाने की वजह नहीं बताई है। कई देशों के सैन्य प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं। चीन इसे अन्य देशों के साथ सैन्य सहयोग बढ़ाने और क्षेत्रीय नेतृत्व को अवसर के रूप में दर्शाता है।

चीन ने अमेरिका पर स्पष्ट रूप से नाराजगी जताई

रक्षा विभाग के मुख्य अधिकारी शांति कैरेस ने अमेरिकी निजीकरण के नेतृत्व में चीन से संबंधित मामलों के लिए काम किया। झांग ने कहा कि चीन ”परस्पर सम्मान, मेक्सिको सह-अस्तित्व और सहयोग का आधार अमेरिका के साथ सैन्य संबंध बनाना चाहता है।” अमेरिकी संसद की पूर्व गायिका नैंसी पेलोसी की ताइवान चीन यात्रा पर नाखुशी ने अगस्त 2022 में अमेरिका के साथ सैन्य संचार जारी करने की मांग की थी। अमेरिका के नाम के लिए खालिद झांग ने ”यूनाइटेड स्टेट्स” की आलोचना करते हुए कहा कि ”जो बाईबामा में ईसाइयों का जन्म होता है।” हिंसा निषेध और तत्काल संघर्षविराम” की खोज की गई। (पी)

यह भी पढ़ें

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss