35.1 C
New Delhi
Tuesday, April 16, 2024

Subscribe

Latest Posts

17507 करोड़ रुपए में बदलेगी 150 रेलवे स्टेशन की सूरत, बनाया जा रहा वर्ल्ड क्लास


छवि स्रोत: फाइल फोटो
यूपी के रेलवे स्टेशन की बदली सूरत

रेल और दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि अमृत भारत स्टेशन के तहत उत्तर प्रदेश के 150 स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाया जा रहा है। ग्लोबल इनवेस्टर्स समिट (GIS-23) के तीसरे दिन यूपी में रेल इंफ्रास्ट्रक्चर और नेटवर्क विकास को लेकर रेलवे और उत्तर प्रदेश सरकार के बीच 17507 करोड़ रुपए के समझौते का अनुबंध- का प्रावधान किया गया।

इस दौरान रेल और सड़क के आधुनिकीकरण में उत्तर प्रदेश विषय पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अमृत भारत स्टेशन के तहत उत्तर प्रदेश के 150 स्टेशनों को विश्व स्तर पर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 2014 से पहले जब रेल बजट आता था तो उसके हिस्से में 1000-1100 करोड़ रुपये दिए जाते थे। इस बार के बजट में मोदी सरकार ने यूपी के अंशों में 16 तथ्यों का आकलन किया है।

वन स्टेशन वन उत्पादों की योजना शुरू

रेल मंत्री ने कहा कि कला और शिल्प में काम करने वाले लोगों के वन स्टेशन वन उत्पादों की योजना शुरू की गई है। इससे इस सेक्टर से जुड़े लोगों की आय प्राप्त होती है। साथ ही ये उत्पाद विश्वव्यापी बन गए हैं। उन्होंने ट्वीट का निमंत्रण देते हुए कहा कि रेलवे से जुड़े बिना किसी साइट से आप उत्तर प्रदेश में अपना प्रोजेक्ट जारी करते हैं और अपने निवेश को फल देते हैं। रेलवे में आपका पूरा सहयोग होगा।

यूपी में चार लाख किलोमीटर का रोड नेटवर्क

सत्र को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के मंत्री जतिन प्रसाद ने कहा कि रेल और सड़क के बिना हम जनता की जांच नहीं करेंगे। यूपी में चार लाख किलोमीटर का रोड नेटवर्क है। श्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में प्रदेश में एक्सप्रेस-वे और पार्टी का नेटवर्क बिछाया जा रहा है। 560 किलोमीटर के एक्सप्रेस-वे पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 59 रेलवे ओवर ब्रिज (आरोबी) पर काम पूरा हो गया है। साथ में 250 आरओबी को चिन्हित किया गया है, जिन पर जल्द ही काम शुरू हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में एक लाख टीयूवी का कार्य रेलवे के सहयोग से पूरा किया जाएगा। उत्तर प्रदेश सरकार के अनुरोध पर इसका पूरा खर्च रेलवे वह करेगा। उन्होंने परियोजना में मौजूद होने से निवेश में निवेश का आह्वान करते हुए कहा कि आने वाले समय में यूपी से सिर्फ भारत की राजनीति का ही नहीं, बल्कि देश का औद्यौगिक रास्ता भी उत्तर प्रदेश से जाएगा।

‘यूपी के विकास के बिना देश का विकास नहीं हो सकता’

रेलवे बोर्ड (इंफ्रास्ट्रक्चर) के सदस्य के रूप में नारायण शंकर ने कहा कि उत्तर प्रदेश के विकास के बिना देश का विकास नहीं हो सकता। इसका ध्यान रखते हुए उत्तर प्रदेश में रेल नेटवर्क का विकास किया जा रहा है। देश में 1275 रेलवे यात्रियों को विश्वस्तर का बनाया जा रहा है, इनमें से 150 यूपी में हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 8 हजार किमी रेलवे लाइन का बिजलीकरण हो गया है। फरवरी के अंत में उत्तर प्रदेश के पूरे रेल नेटवर्क का बिजलीकरण होगा।

‘देश में दो डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर हम बने हुए हैं’

रेलवे के संबंधित डायरेक्टर रवींद्र जैन ने कहा कि देश में दो डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर हम बने हुए हैं। इसमें एक पश्चिम गलियारा है, तो दूसरा पूर्वी गलियारा है। इन फ्रेट कॉरिडोर के निर्माण से मैलगार्ड अपनी मर्जी से चले जाएंगे और समय की बचत होगी। पूर्वी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर का एक हजार 58 किलोमीटर हिस्सा उत्तर प्रदेश में है। इसका पूरा होने से उत्तर प्रदेश के रेल के नेटवर्क में मूलचूल बदलाव आ जाएगा। यहां निवेश करने वाले उद्यम को अपनी कंपनी ला रही है और ले जाने में कोई समस्या नहीं होगी।

कांग्रेस के गढ़ में मोदी के निशाने! बीजेपी के लिए कमजोर है पूर्वी राजस्थान, जानें प्रदेश की सियासत में एक्सप्रेस-वे का गुणा-गणित

यहां के 4 एटीएम को बदमाशों ने लगाई आग, उड़ाए 86 लाख सीसीटीवी, खंगालने में जुटी पुलिस



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss