31.1 C
New Delhi
Sunday, July 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

पर्यटन मंत्रालय के डीजी बनकर ठगे लाखों रुपए, ठगी के तरीके को जानकार पुलिस भी हैरान


Image Source : FILE
पर्यटन मंत्रालय के डीजी बनकर ठगे लाखों रुपए

नागपुर: महाराष्ट्र में पर्यटन मंत्रालय का महानिदेशक बनकर लाखों रुपयों की ठगी का मामला सामने आया है। यहां एक युवक ने खुद को पर्यटन विभाग का डीजी बताकर और साथ में प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह, अमिताभ बच्चन और शाहरुख़ खान के नाम और तस्वीर का इस्तेमाल कर लाखों रुपयों का निवेश कराया। निवेश के नाम पर 50 लाख से भी ज्यादा रुपए लेने के बाद युवक फरार हो गया। ठगी का शिकार होने का अंदाजा होने के बाद पुलिस में शिकायत की गई, जिसके बाद पुणे और नागपुर की टीम आरोपी की तलाश में उत्तर प्रदेश रवाना हो गई हैं।

ठग ने खुद को पर्यटन मंत्रालय का डीजी बताया 

जानकारी के अनुसार, खुद को केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय का महानिदेशक बताकर एक ठग ने कई लोगों को चुना लगाया। ईकोटूरिज्म सहित अन्य टीम के नाम पर लोगों से लाखों रुपयों के लिए और आरोपी फरार हो गया। अब इसके बाद आर्थिक अपराध अन्वेषण शाखा ने प्राथमिक जांच के बाद आरोपी ब्रह्मघाट वाराणसी निवासी अनिरुद्ध अनंत कुमार सिंह के खिलाफ धोखाधड़ी और एमपीआईडी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

विभिन्न योजनाओं में निवेश करने का झांसा देकर बनाया शिकार 

ठग ने केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के तहत विभिन्न योजनाओं में निवेश करने का झांसा देकर आरोपी ने कई निवेशकों को लाखों रुपए ठगा है। ठग ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और फिल्म जगत के नामी अभिनेताओं के नामों का सहारा लिया। आरोपी ने इसके लिए खुद को केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के संचालक के रूप में प्रसारित कर रखा था। पर्यटन मंत्रालय द्वारा संचालित की जाने वाली विभिन्न योजनाओं में निवेश करने पर निवेशकों को लाखों रुपए का लाभ होने का झांसा दिया था, ज्यादा निवेश और ज्यादा लाभ पाने वाले व्यक्ति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, अभिनेता अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, अक्षय कुमार और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण आदि नेता और अभिनेताओं द्वारा पुरस्कृत करने का झांसा दिया था, इसके लिए उसने फर्जी वेबसाइट भी तैयार की थी।

सरकार के नाम पर बोगस मैगजीन भी छाप रखी

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार नागपुर के जयताला निवासी सुनील वसंत राव कुहिकर की शिकायत पर राणा प्रताप नगर थाने में मामला दर्ज किया गया है। शिकायत में कहा गया है कि अक्टूबर 2021 में कुहीकर का परिचय होशिंग से हुआ था। उसने खुद को पर्यटन मंत्रालय का महानिदेशक बताया। इसके अलावा उसने केंद्र और उत्तर प्रदेश के बड़े नेताओं और कुछ बॉलीवुड सेलीब्रेटी के साथ अपनी तस्वीर भी दिखाई। वहीं उसने सरकार के नाम पर बोगस मैगजीन भी छाप रखी थी। उसने लोगों को बताया कि उनका पैसा पर्यटन मंत्रालय की कई स्कीमों में निवेश किया जाएगा। इसमें भी भारी मुनाफा होगा। कुहीकर समेत पांच लोग उसके झांसे में आ गये और समय-समय पर होशिंग को लगभग 50 लख रुपए दिए। लोगों का पैसा लेने के बाद होसिंग अचानक गायब हो गया। पीड़ितों ने उससे संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन उसका फोन नंबर बंद हो गया था। 

G20 समिट में विदेशों से आए मेहमानों के साथ फोटो भी कीं अपलोड 

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्राथमिक जांच में वह ठगी होने की बात सामने आई है। आरोपी के खिलाफ और भी मामले दर्ज हो चुके हैं। उसने पर्यटन मंत्रालय के नाम पर अपना ट्विटर अकाउंट भी बना रखा था। हाल ही में हुए G20 समिट में भी उसने विदेशों से आए मेहमानों के साथ फोटो अपलोड की थी। प्राप्त जानकारी के अनुसार अपनी ठगी का धंधा बढ़ाने के लिए उसने पांच सितारा होटल में सेमिनार भी लेता था। ठगी के शिकार 5 पीड़ित सामने आए हैं। 

ये भी पढ़ें-

‘भारत को अपने नेता पर है भरोसा’, मणिपुर पर पीएम मोदी का समर्थन करते हुए बोलीं अमेरिकी सिंगर 

अंडमान में भूकंप से कांपी धरती, रिक्टर स्केल पर मापी गई इतनी तीव्रता

 

 



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss