29.1 C
New Delhi
Friday, June 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

पीएम मोदी विवेकानंद रॉक पर 45 घंटे करेंगे ध्यान, दूसरे लोगों की एंट्री पर पाबंदी – इंडिया टीवी हिंदी


छवि स्रोत : पीटीआई
मोदी

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को चुनाव के अंतिम चरण के लिए प्रचार अभियान के समापन के साथ ही विवेकानंद रॉक मेमोरियल पर 45 घंटे का ध्यान रखेंगे। इसके लिए वहां सुरक्षा का ध्यान रखा गया है। जंगली जानवरों के प्रवेश पर भी पाबंदी रहेगी। प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के दौरान 2,000 खुशहाल तैनाती और विभिन्न सुरक्षा अभियान कड़ी निगरानी रखेंगे। प्रधानमंत्री 30 मई की शाम से 1 जून की शाम तक ध्यान देंगे। इस स्थान को इसलिए चुना गया है क्योंकि माना जाता है कि स्वामी विवेकानंद को दब पर दिव्य दृष्टि प्राप्त हुई थी।

तिरुवनंतपुरम से कन्याकुमारी हेलीकॉप्टर जाएंगे

इस दौरान दो दिनों तक समुद्र तट पर पर्यटकों को जाने की शुरुआत नहीं होगी। गुरुवार से शनिवार तक समुद्र तट पर पर्यटकों के लिए बंद रहेगा और निजी नौकाओं को भी समुद्र तट पर जाने की अनुमति नहीं होगी। पीएम मोदी वहां हेलीकॉप्टर से पहुंचेंगे। हेलीपैड पर हेलीकॉप्टर की मंजिलों का परीक्षण किया गया है। पीएम मोदी सबसे पहले तिरुवनंतपुरम पहुंचेंगे और वहां से 17 हेलीकॉप्टर कन्याकुमारी जाएंगे। वे शाम 4 बजकर 35 मिनट पर थे। वेसूर्योदय देखेंगे और फिर ध्यान में बैठेंगे। वे 1 जून को दोपहर 3.30 बजे कन्याकुमारी से वापस लौटेंगे।

विवेकानंद के दृष्टिकोण को साकार करना उद्देश्य

पांच साल पहले उन्होंने 2019 के चुनाव प्रचार अभियान के बाद केदारनाथ गुफा में ध्यान लगाया था। एक सूत्र ने बताया कि चूंकि प्रधानमंत्री मोदी ध्यान देने के लिए करीब 45 घंटे रुके रहेंगे, इसलिए भारतीय तटरक्षक बल और भारतीय नौसेना समुद्री सीमा पर निगरानी रखेगी। भाजपा महासचिव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने आध्यात्मिक प्रवास के लिए कन्याकुमारी को इसलिए चुना है क्योंकि वह देश में विवेकानंद के दृष्टिकोण को साकार करना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि यह विश्वास है कि चार जून को गिनती होने के बाद वह तीसरी बार सत्ता में लौटेंगे।

इसी स्थान पर स्वामी विवेकानंद ने तीन दिन तक ध्यान लगाया था

बता दें कि राष्ट्रीय चुनाव के अंतिम चरण का मतदान एक जून को होना है। मतदान से दो दिन पहले चुनाव-प्रचार समाप्त हो जाता है। भाजपा के वरिष्ठ नेता ने बताया कि जिस स्थान पर प्रधानमंत्री ध्यान लगाएंगे, उसका विवेकानंद के जीवन पर बड़ा प्रभाव था। उन्होंने कहा कि समाज में क्रांति लाने के बाद विवेकानंद यहां पहुंचे और यहां उन्होंने तीन दिन तक ध्यान लगाया और विकसित भारत का सपना देखा। (पीटीआई)

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss