27.9 C
New Delhi
Wednesday, April 17, 2024

Subscribe

Latest Posts

परफ्यूम का इस्तेमाल करने वाले पायलटों और फ्लाइट अटेंडेंट्स की अब खैर नहीं!


Image Source : IANS
परफ्यूम

नई दिल्ली: परफ्यूम का इस्तेमाल करने वाले पायलटों और फ्लाइट अटेंडेंट्स के खिलाफ कार्रवाई हो सकती है।  देश में एक नए प्रस्तावित नियम के तहत परफ्यूम का इस्तेमाल करने वाले पायलटों के खिलाफ ये कार्रवाई की जा सकती है। सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, देश के विमानन उद्योग की देखरेख करने वाले नागरिक उड्डयन महानिदेशक (डीजीसीए) के कार्यालय ने हाल ही में शराब की खपत के संबंध में अपने उपनियमों में बदलाव का एक प्रस्ताव रखा है।

दिशानिर्देशों में पहले से ही मादक पेय पदार्थों के साथ अन्य चीजों का उल्लेख है जो ब्रेथ एनलाइजर परीक्षण के पॉजिटिव होने का कारण बन सकते हैं, जैसे माउथवॉश। रिपोर्ट में कहा गया है कि अब एक नए खंड जोड़ा जा रहा है जिसमें विशेष रूप से इत्र का उल्लेख है।

इसमें लिखा है, ‘चालक दल का कोई भी सदस्य किसी भी दवा/फॉर्मूलेशन का सेवन नहीं करेगा या किसी भी पदार्थ जैसे माउथवॉश/टूथ जेल/परफ्यूम या ऐसे किसी उत्पाद का उपयोग नहीं करेगा जिसमें अल्कोहल की मात्रा हो। इसके परिणामस्वरूप ब्रेथ एनलाइजर परीक्षण पॉजिटिव हो सकता है।’ कहा ये भी गया है कि ‘कोई भी चालक दल का सदस्य जो ऐसी दवा ले रहा है, उसे उड़ान शुरू करने से पहले कंपनी के डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।’

पायलटों का शराब पीकर ड्यूटी पर आना भी एक मुद्दा

सीएनएन की रिपोर्ट के अनुसार, हालांकि परफ्यूम में थोड़ी मात्रा में अल्कोहल हो सकता है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि शरीर पर परफ्यूम लगाने से गलत पॉजिटिव ब्रीथ टेस्ट  हो सकता है या नहीं। डीजीसीए के लिए आधिकारिक हवाई सुरक्षा आवश्यकताओं को अगस्त 2015 में अनुमोदित किया गया था। प्रस्तावित वृद्धि 5 अक्टूबर तक सार्वजनिक टिप्पणी के लिए है। गौरतलब है कि विमानन उद्योग में पायलटों का शराब पीकर ड्यूटी पर आना कभी-कभी एक मुद्दा रहा है।

ऐसे ही एक मामले में जापान एयरलाइंस के पायलट कात्सुतोशी जित्सुकावा को 2018 में 10 महीने जेल की सजा सुनाई गई थी। टेकऑफ़ के तुरंत बाद किए गए परीक्षण से पता चला कि उनके रक्त में अल्कोहल का स्तर वैध सीमा से नौ गुना अधिक था। अमेरिका में, गेब्रियल लाइल श्रोएडर नाम के एक डेल्टा पायलट को उड़ान भरने से पहले पूरी तरह से सवार विमान से उतार दिया गया, क्‍योंकि संदेह था कि वह नशे में है। (इनपुट: IANS)

ये भी पढ़ें: 

असम, मेघालय और त्रिपुरा में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर मापी गई इतनी तीव्रता 

मिजोरम में तबाही मचा रहा अफ्रीकी स्वाइन बुखार, 2 सालों में हुआ 534 करोड़ से ज्यादा का नुकसान

 

 

Latest India News



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss