40.1 C
New Delhi
Thursday, May 30, 2024

Subscribe

Latest Posts

PhonePe ने लॉन्च किया इंडिया का देसी ऐप स्टोर, गूगल की छुट्टी! – इंडिया टीवी हिंदी


छवि स्रोत: फ़ाइल
मेड इन इंडिया इंडस ऐप स्टोर

मेड इन इंडिया इंडस ऐप स्टोर लॉन्च हो गया है. PhonePe का यह ऐप स्टोर ऐप के लिए Google Play Store का विकल्प होगा। इस ऐप स्टोर की घोषणा कंपनी ने पिछले साल की थी, जिसे आज से आम उपभोक्ताओं के लिए जारी किया गया है। यह ऐप स्टोर आईटी और रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने लॉन्च किया है। इस ऐप स्टोर की खास बात यह है कि इसमें किसी भी तरह का चार्ज नहीं देना होगा। ऐप स्टोर पर पहले साल में अपने ऐप को फ्री में रजिस्टर कर सकते हैं। साथ ही, उनसे किसी भी तरह का कमीशन नहीं लिया जाएगा।

यह मेड इन इंडिया ऐप स्टोर 12 सागर में उपलब्ध है। इसके अलावा इसमें AI बेस्ड वैयक्तिक विधि विशेषता भी दी गई है। यही नहीं, इंडस ऐप स्टोर पर आप ऐप्स और गेम्स के वीडियो के जरिए भी सर्च कर सकते हैं। इस ऐप स्टोर में ऐप डाउनलोड करने के लिए रजिस्टर करना होगा। इसके लिए आवेदकों को केवल अपना मोबाइल नंबर और ओटीपी दर्ज करना होगा। यह ऐप स्टोर केवल एंड्रॉइड उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध है।

नहीं देना होगा कोई चार्ज

इंडस ऐप स्टोर ने खास तौर पर भारतीय ऐप को ध्यान में रखते हुए डिजाइन तैयार किया है। इस ऐप मार्केट प्लेस पर भारतीय ऐप गेम फ्री में ऐप रजिस्टर कर सकते हैं। इसके लिए आपसे कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। हालाँकि, यह ऑफर केवल 1 साल के लिए ही होगा। इसके अलावा इस ऐप स्टोर पर रजिस्टर करने वाले ऐप डिविजन को पहले साल कोई कमीशन भी नहीं देना चाहिए। ऐप डेवलपर ऐप से कमाई गई रेवेन्यू को इंडस के साथ शेयर नहीं करेंगे। Google ऐप से भारी कमीशन प्राप्त होता है। इसका मतलब साफ है कि यह ऐप स्टोर गूगल की वेबसाइट पर नहीं है।

इस ऐप स्टोर पर पहले से ही 300 से ज्यादा ऐप्स लिस्ट हैं। यहां से अपने हार्डवेयर में आकर्षक इन ऐप्स को खरीदें। यह ऐप स्टोर 12 भारतीय समुद्री डाकू को सपोर्ट करता है, जिसमें अंग्रेजी और हिंदी के अलावा मलयालम, मराठी, तमिल आदि शामिल हैं। ऐप डिवेलप करने के लिए किसी भी पैवेलियन गेटवे को इंटिग्रेट कर लें। Google और Apple के ऐप स्टोर में ऐप को Google या फिर Google और Apple के ऐप स्टोर में ऐप में अपग्रेड करना शुरू करें।

गूगल की संस्था होगी बंद

गूगल और पुराने अपने ऐप स्टोर पर ऐप रजिस्टर करने के लिए 30 प्रतिशत तक कमीशन लेते हैं। यही नहीं, ऐप द्वारा दिए गए हर पर्चेज पर भी कमीशन लिया जाता है। PhonePe ने इस ऐप स्टोर पर ऐप रजिस्टर करने के लिए कोई शुल्क नहीं रखा है। इसका मतलब है कि अपने ऐप में फ्री में रजिस्टर करें। साथ ही, ऐप से कमाई के लिए भी कोई चार्ज नहीं देना होगा।

यह भी पढ़ें – सरकार एआई को रेग्युलेट, डीपफेक बनाने वालों की अब खैर नहीं



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss