25.1 C
New Delhi
Wednesday, April 17, 2024

Subscribe

Latest Posts

नवाज़ शरीफ़ की आज हो रही घर वापसी, चार साल पहले यूके चले गए थे ईस्ट ईस्ट


छवि स्रोत: फ़ाइल
नवाज़फर्फ़

शब्द: पाकिस्तान के पुरा प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ की चार साल बाद आज आख़िरकार घर वापसी हो रही है। वह पिछले चार साल से लंदन में रह रहे थे। वे सबसे पहले प्रदर्शित हुए, यहां वह लाहौर के 2 घंटे के प्रवास के बाद पहुंचे। बता दें कि इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने दो दिन पहले ही नवाज शरीफ की पाकिस्तान वापसी का रास्ता साफ कर दिया था। कोर्ट ने उन्हें दो मामलों में दस्तावेजों की गारंटी दे दी थी। वहीं एक अन्य मामले में गिरफ़्तार वारंट को कोर्ट ने कैंसिल कर दिया था।

साल 2019 में लंदन मूव गेट नवाज़ शरीफ़

बता दें कि नवाज शरीफ साल 2019 में जमानत पर छूट थे। इसके बाद वह पाकिस्तान से ब्रिटेन चले गए। इसके बाद कई बार खबरें आईं कि वह वतन वापस आ रहे हैं और उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। लेकिन ऐसा सिर्फ खबरें ही आ रही हैं। लेकिन अब वह वापस आ रहे हैं। जानकारी के अनुसार, शनिवार शाम को लाहौर स्थित मीनार-ए-पाकिस्तान में आपकी पार्टी ‘पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज’ (पीएमएल-एन) ने एक विशाल रैली को श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम आयोजित किया है। पंजाब के गृह विभाग ने शुक्रवार को कहा कि शनिवार को मीनार-ए-पाकिस्तान की रैली में भाग लेने के दौरान एमईटीएल-एन के सर्वोच्च नेता 73 साल के नवाज शरीफ की जान पर ‘खतरा’ है। विभाग ने कहा कि पंजाब पुलिस की ओर से सुरक्षा परामर्श की बैठक के बाद खतरे की ‘उच्च संभावनाएं’ बताई गईं।

नवाज़ शरीफ़ के भव्य स्वागत की तैयारी

डॉन अखबार की खबर के अनुसार, गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अधिकारियों ने नवाज शरीफ की सुरक्षा सुनिश्चित करने के वास्ते समन्वित प्रयास करने के लिए पंजाब पुलिस को विश्वास दिलाने के लिए उच्च स्तरीय बैठक की और तीन बार प्रधानमंत्री बने रहे। इस बीच नवाज शरीफ के छोटे भाई एवं एल-एन अध्यक्ष शहबाज शरीफ ने पार्टी नेताओं को पूर्व प्रधानमंत्री का ”ऐतिहासिक स्वागत” करने को कहा है। एल-एन के उपमहासचिव अत्सोआस तार ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ मस्जिद के नाम से मशहूर अल-अजीजिया और एवनफील्ड मामले में ज़मानत मिली हुई है। उन्होंने कहा कि कानूनी रूप से पूरी करने के बाद नवाज शरीफ लाहौर के लिए अरेस्ट होगे और वहां मीनार-ए-पाकिस्तान में एक रैली को पेश करेंगे।

ये भी पढ़ें-

केंद्र सरकार मुझे गिरफ़्तार करना चाहती है, लेकिन उन्हें कोई अवसर नहीं मिल रहा है- दस्तावेज़

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर डॉलर कोर्ट से एक और झटका, इस मामले में 5 हजार अमेरिकी डॉलर का जुर्माना लगाया गया

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss