17.9 C
New Delhi
Tuesday, February 27, 2024

Subscribe

Latest Posts

‘अग्निवीर के तौर पर सेना में शहीद अमृतपाल सिंह को दी गई भर्ती, नहीं मिला सैन्य सम्मान’


छवि स्रोत: कांग्रेस/ट्विटर (स्क्रीनग्रैब)
अमृतपाल सिंह हुए शहीद

नई दिल्ली: पंजाब के अमृतपाल सिंह की मौत को लेकर कांग्रेस ने सोशल मीडिया हैंडला एक्स पर पोस्ट किया है और अग्निवीर भर्ती को लेकर सारगर्भित है। कांग्रेस ने एक्स पर कहा, ‘पंजाब के रहने वाले अमृतपाल सिंह अग्निवीर के पर सेना में भर्ती हुए।’ वो कश्मीर में 10 अक्टूबर को गोली लगने से शहीद हो गए थे। विपरीत ये है कि देश के लिए शहीद होने वाले अमृतपाल जी को सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई भी नहीं दी गई।’

कांग्रेस ने कहा, ‘उनका पार्थिव शरीर एक आर्मी हवलदार और दो जवान लेकर आए।’ इसके अलावा सेना की कोई यूनिट तक नहीं आई। यहां तक ​​कि उनके पार्थिव शरीर को भी आर्मी व्हीकल्स के पास से निजी तौर पर लाया गया था। ‘ये देश के आतंकियों का अपमान है।’

सुप्रिया श्रीनेत ने बुनियादी ढांचा तैयार किया

इस वीडियो को कांग्रेस नेता सुप्रिया श्रीनेत ने भी एक्स पर पोस्ट किया था। उन्होंने कहा, ‘पंजाब के 19 साल के अग्निवीर अमृतपाल सिंह को सेना में भर्ती किया गया। 10 अक्टूबर को कश्मीर में गोली लगने से वे शहीद हो गए। यहां उनकी बहनें कंधा दे रही हैं। इनमें से एक के लिए ना सैन्य सम्मान ना सेना की कोई इकाई। वो शहीद हैं पर ये अग्निवीर योजना की असलियत है।’

भारतीय सेना ने जवान की मौत को लेकर कही ये बात

भारतीय सेना ने इस मामले पर अपना पक्ष रखा है। भारतीय सेना ने कहा कि राजसौरी सेक्टर में अग्निवीर अमृतपाल सिंह की सेंट्री ड्यूटी के दौरान खुद को लगी बंदूक की गोली से चोट लगने की वजह से मौत हो गई। अधिक विवरण सुनिश्चित करने के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी जारी है। मृतक के पार्थिव शरीर को एक जूनियर कमीशंड अधिकारी और चार अन्य रैंक के लोगों के साथ अग्निवीर की यूनिट को किराये पर लेकर एक सिविल एम्बुलेंस में ले जाया गया। अंतिम संस्कार में उनके साथ सेना के जवान भी शामिल हुए।

मौत का कारण खुद को चोट पहुंचाना था, अंतिम नीति के अनुसार किसी भी गार्ड ऑफ ऑनर या मिलिट्री को अंतिम संस्कार प्रदान नहीं किया गया था। भारतीय सेना शोक संत परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करती है।

ये भी पढ़ें:

भारत और पाकिस्तान क्रिकेट मैच के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने विक्टर साइन का प्रदर्शन किया, तस्वीरें देखें

यूपी: 7 साल की मासूम को मौसा ने मौत के घाट उतार दिया, शीशे और शव को कब्र में फेंक दिया, सामने आई ये वजह

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss