35.1 C
New Delhi
Wednesday, May 22, 2024

Subscribe

Latest Posts

महाराष्ट्र: अबू आजमी ने विधानभवन में नासिक का अध्यादेश क्यों? – इंडिया टीवी हिंदी


छवि स्रोत: फ़ाइल
अबु आज़मी

मुंबई: समाजवादी पार्टी के महाराष्ट्र प्रदेश अध्यक्ष और विधायक अबू आजमी ने इंडिया टीवी से बात की। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा भरोसा है कि महाराष्ट्र सरकार ने हमें बॉम्बे हाई कोर्ट के विद्यार्थियों को शिक्षा में 5% नटखट को जायज ठहराने के बाद भी नटखट नहीं कहा। इसलिए मैंने कला विधानभवन में मराठा सागर का पूर्वी भाग बनाया था। वो मेरी अप्लाई थी।

उन्होंने कहा कि 'किएस्ट मोदी नपुंसक में पसमांदा' के बारे में बात करते हैं। सबके साथ सबका और विकास की बात करते हैं। लेकिन वो देखिए कि किस तरह महाराष्ट्र में आदिवासियों की मांग और हक को भी महाराष्ट्र सरकार नहीं दे रही है।

नटखट को लेकर कही ये बात

अबू ने कहा कि आजादी से पहले 1936 में बालाजी ने बाला को 35% नग्न दिया था। लेकिन अगस्त 1950 में अविश्वासी वल्लभभाई पटेल ने इसका विरोध किया। उन्होंने कहा कि धर्म का आधार शून्य पर नहीं दिया जा सकता और उन्हें हम नैतिकता ने मान लिया। बाद में सिखों को नॉथ मिला लेकिन ईसाई और डोयलेट को नॉथ नहीं मिला। इसलिए आज हम अपने ही देश में बेगाने हो गए हैं अब कोर्ट से भी फैसला लेते हैं जनसंख्या के हिसाब से होता है और क्योंकि हम आदिवासियों की जनसंख्या ही इतनी है। तो हमारे बारे में कौन सोचेगा?

उन्होंने कहा कि कोर्ट में जाने से कोई फायदा नहीं होगा। वहां भी हमारी सुनवाई नहीं होगी। हम यूं ही चिल्लाते रहेंगे और 5% नैट की मांग करते रहेंगे। लेकिन आने वाले समय में मुझे डर है कि अब कोई अब्दुल कलाम और अब्दुल हमीद भारत में पैदा नहीं होंगे।

उन्होंने कहा कि जब 2016 में मराठा और मुस्लिमों को दलित समाज ने कहा था, तब 5% मुस्लिमों के पिछड़े समाज को बॉम्बे उच्च न्यायालय ने सही माना था। लेकिन नागालैंड को कोर्ट ने रद्द कर दिया। लेकिन इस देश में अब किसी को किसी की जरूरत नहीं है। इसलिए हमारी बात कोई नहीं सुन रहा।

ये भी पढ़ें:

विश्व के देशों में लोगों की औसत लंबाई कितनी है? भारत और पाकिस्तान का किरदार चौंकाएगा

ग्रेटर: एयरपोर्ट के पास गेरा योगी सरकार का बुलडोजर, बनाई जा रही अवैध कॉलोनियां, देखें वीडियो



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss