19.1 C
New Delhi
Sunday, December 3, 2023

Subscribe

Latest Posts

महादेव सट्टेबाजी ऐप: क्रेयेटर्स ने ‘वनुआतु’ नाम के ओसियन देश की ली थी नागरिकता


छवि स्रोत: फ़ाइल फ़ोटो
महादेव बुक ऐप को लेकर मोहम्मद की अनफिट में बड़ा खुलासा

महादेव बुक सट्टेबाजी मामले की जांच कर रही ईडी ने रायपुर कोर्ट में एनामेल का खुलासा किया है। इस अनपेक्षित रूप में कई अहम खुलासे हुए हैं। ईडी ने बताया कि महादेव ऐप के निर्माता और प्रकोटर्स बोरा चंद्राकर और रवि उप्पल ने वनुआतू (वानुअतु) जो कि एक ओसियाई देश है, उसकी नागरिकता ले ली थी। इस देस का ED को उनका पासपोर्ट मिला हुआ है जिसका अंफ़्ट का हिस्सा बनाया गया है।

वनुआतु के पासपोर्ट से शोबे की आंख में धूल झोंकते रहे

डायरेक्टोरेट (ईडी) के अनुसार, इसी पासपोर्ट का उपयोग करके अवैतनिक विदेश यात्रा करना और इस्लामाबाद की आंखों में धूल झोंकने का काम करना था। भारत की कई जांच-पड़ताल वाले इन मास्टरमाइंड की तलाश में हैं, जो लाखों के अवैध सट्टेबाजी ऐप के पीछे हैं। रिमोट में यह भी बताया गया है कि दोनों चतुर्थों ने ऑस्ट्रेलिया वीज़ा के लिए वनुआटू पासपोर्ट का इस्तेमाल भी अर्ज़ी दस्तावेज़ों के लिए किया था। दोनों ने ही अपनी भारत की नागरिकता नहीं छोड़ी है। ईडी ने अपने 8887 अनावृत्त में बताया कि इन चारों ने अवैध सट्टेबाजी के माध्यम से 6000 करोड़ की कमाई की है।

रेजिडेंस में विकसित महादेव बुक ऐप
ईडी ने चंद्राकर और उप्पल के खिलाफ लुक आउट सर्कुलर (एलओसी) जारी किया है। इसके अलावा एजेंसी उसकी प्रतिद्वंद्वी रेड कॉर्नर नोटिस (आरसीएन) की तैयारी में भी शामिल है। ईडी ने अनपेक्षित रूप से बताया कि महादेव पुस्तक को सिन्ड्रिन में विकसित किया गया था। शुरुआत के दिनों में चंद्राकर और उप्पल रेजिडेंट से बालासपुर की यात्रा की और वहां एक आईडी और इंटेलिजेंट लीडरशिप को तैयार किया, ताकि अवैध सट्टेबाजी की जा सके।

नियमों से बचने के लिए डॉक्टरों की जगह दिखाने का बिंदु
एडी ने खुलासा किया कि उस समय गेम के मैदान में बेटिंग एक्टिविटी को दिखाया गया था और पॉइंट के रूप में दिखाया गया था। ड्रग्स को बिंदु के रूप में दिखाया गया था ताकि सट्टेबाजी के खोए जा सके। इस ऐप पर जो भी जीता या हारता था, तो पैसे कलेक्ट करने के लिए लिंक डॉक्यूमेंट दिया गया था।

ये भी पढ़ें-

गुजरात में गरबा वादक वक्ता 17 साल के लड़के को आया हार्ट अटैक, नहीं बच सकी जान

आजम खान बोले- हमारा सपोर्टिव हो सकता है, विपक्ष में लेकर आया यूपी पुलिस

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss