32.1 C
New Delhi
Wednesday, April 17, 2024

Subscribe

Latest Posts

एलेक्जेंड्रा गैंग में फंसे हुए लोगों का तनाव दूर करने के लिए दिया गया ये उपाय, लेंथ रिले ऑपरेशन


छवि स्रोत: पीटीआई
मिश्कायारा टनल में क्रीड़ा कलाकारों को आउट ऑफ फ़्लोरिडा जारी किया गया है

उत्तरकाशी: उत्तराखंड के अलैहिस्सयारा सुरंग में घने जंगलों के बीच आ रही चट्टानों के बीच अब उनके तनाव को दूर करने के उपाय किए जा रहे हैं। अधिकारियों ने तरंग में डूबे 41 डांस को तनाव कम करने के लिए मोबाइल फोन और बोर्ड गेम दिए हैं। एक अधिकारी ने शनिवार को यह जानकारी दी। सिलक्यारा में धंसी इंडिपेंडेंट ऑर्गनाइजेशन में ‘ड्रिल’ करने से संयुक्त ऑगर मशीन के ब्लेड वैलड में फंसने से काम बाधित हो रहा है, जिसके बाद अन्य विकल्पों पर विचार किया जा रहा है, जिससे एनामिक को ऑर्गन से निकालने में कई और हफ्ते लग सकते हैं।

लूडो और स्नेक-सीढ़ी जैसे उपलब्ध बोर्ड गेम तकनीशियन

एक अधिकारी ने बताया, ‘मोबाइल फोन ऐसे दिए गए हैं जो श्रमिक श्रमिक वीडियो गेम गेम सहायक हैं। इन्हें लूडो और स्नेक-सीधी जैसे बोर्ड गेम भी उपलब्ध कराए गए हैं।’ उन्होंने बताया कि कलाकारों को ताश के पत्ते नहीं दिए गए हैं। एक अन्य अधिकारी ने कहा, ‘ये खेल उन्हें अपने तनाव दूर करने में मदद करेंगे।’ शुक्रवार को लगभग पूरे दिन ‘ड्रिलिंग’ का काम बाधित रहा, हालांकि समस्या की पहचान शनिवार को हुई जब गैंग अफेयर्स के अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स ने सलेम को बताया कि ऑगर मशीन ‘खराब’ हो गई है। पिछले 13 दिनों से सुरंग के एक हिस्से के डाउनलोड की वजह से 41 श्रमिक शामिल हैं। यह सुरीला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी ‘चारधाम’ परियोजना का हिस्सा है।

13 दिन से 41 श्रमिक हैं

शनिवार को अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ ने उम्मीद जताई कि पिछले 13 दिन से 41 श्रमिक अगले महीने क्रिसमस तक बाहर आ जाएंगे। शुक्रवार को लगभग पूरे दिन ‘ड्रिलिंग’ का काम बाधित रहा, हालांकि समस्या की पहचान शनिवार को हुई जब ऑरेंज मामलों के अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ अर्नोल्ड डिक्स ने सलेम को बताया कि ऑगर मशीन ”खराब” हो गई है। विशेषज्ञ विशेषज्ञ डिक्स ने कहा, ”ऑगर मशीन का ब्लेड टूट गया है, क्षतिग्रस्त हो गया है।” उन्होंने कहा, ”ऑगर मशीन का ब्लेड टूट गया है, क्षतिग्रस्त हो गया है।” अपने काम करने के तरीकों पर यकीन कर रहे हैं। मुझे पूरा विश्वास है कि सभी 41 लोग लौट आएंगे।’

अब मानकीकरण होगा

जब डिक्स ने इस संबंध में समयसीमा दिखाने के लिए कहा, तो उन्होंने कहा, ‘मैंने हमेशा वादा किया है कि वे क्रिसमस तक घर आ जाएंगे।’ 14वें दिन के अधिकारियों ने दो स्थानों पर ध्यान केन्द्रित किया – किले के शेष भाग में 10 या 12 मीटर के हिस्सों में हाथ से ‘ड्रिलिंग’ या ऊपर की ओर से 86 मीटर नीचे ‘ड्रिलिंग’। वहीं, राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एसडीएमए) के सदस्य के लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) सईद अता हसनैन ने नई दिल्ली में कहा, ‘इस अभियान में समय लग सकता है।’ हाथ से ‘ड्रिलिंग’ (मैनुअल कास्टिंग) के तहत श्रमिक बचाव मार्ग के अब तक खोदे गए 47-मीटर खंडों में प्रवेश कर अल्प अवधि के लिए एक सीमित स्थान पर ‘ड्रिलिंग’ करना और उसके बाहर दूसरे चरण में इस काम में शामिल होना। उन्होंने संकेत दिया कि अब जिन दो मुख्य विकल्पों पर विचार किया जा रहा है उनमें से यह सबसे तेज़ विकल्प है। अब तक चिप्स में 46.9 मीटर का निशान बना हुआ है। सुरंग के टूटे हिस्से की लंबाई करीब 60 मीटर है। (इनपुट-भाषा)

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss