33.1 C
New Delhi
Thursday, May 23, 2024

Subscribe

Latest Posts

'बंगाल में गुंडों, पुलिस और नेताओं के बीच गठजोड़', संदेशखाली पर बोले कैलाश विजयवर्गीय – इंडिया टीवी हिंदी


छवि स्रोत: पीटीआई
बंगाल सरकार पर भड़के कैलाश विजयवर्गीय।

पश्चिम बंगाल के संदेशखाली में महिलाओं के साथ कथित यौन उत्पीड़न और हिंसा की खबरों ने पूरे देश को हैरान कर दिया है। बीजेपी, कांग्रेस समेत राज्य की सीएम ममता बनर्जी और उनकी पार्टी लोकतांत्रिक कांग्रेस के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं। इस बीच पश्चिम बंगाल में लंबे समय तक गुजरात में रहने वाले बीजेपी नेता कैलाश विक्ट्री ने ओझा पर भड़की हिंसा का संदेश दिया है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बंगाल में गुंडों, पुलिस और नेताओं के बीच मजबूत गठजोड़ है।

पश्चिम बंगाल में क्या लोकतंत्र मौजूद है?

जबलपुर में संवाद से बात करते हुए कैलाश विजय ग्रेडे ने कहा कि लोग छोटी-छोटी घटनाओं के लिए दिल्ली में कैंडल कैंडल विरोध प्रदर्शन करते हैं, उन्हें संदेशखाली का दौरा करना चाहिए और जांच करनी चाहिए कि पश्चिम बंगाल में क्या लोकतंत्र मौजूद है। उन्होंने कहा कि संदेशखाली में स्थानीय लोगों के अधिकारों का उल्लंघन किया गया है। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों के पास जमीन के निशान तो हैं लेकिन जमीन उनके कब्जे में नहीं है। उन्हें प्रधानमंत्री अन्न योजना के तहत अनाज उगाने का अधिकार है, लेकिन उन्हें कोई राशन नहीं मिल रहा है।

शाहजहाँ शेख के बारे में बड़ा खुलासा

बीजेपी नेता कैलाश विजय ग्रेडे ने संदेशखाली हिंसा के मुख्य नाबालिग शाह जहां शेख के बारे में एक और बड़ा खुलासा किया है। उन्होंने कहा कि संदेशखाली में भाजपा मंडल अध्यक्ष की कनपटी में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी लेकिन पुलिस ने एक साल तक भाई को गिरफ्तार नहीं किया। जब मैंने हमला किया तो पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करते हुए उन्हें (शाहजहाँ शेख को) गिरफ़्तार कर लिया। बाद में उसे संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया। ये वस्तुएं स्पष्ट रूप से गुंडों, पुलिस और नेताओं के बीच सांठगांठ को दी गई हैं।

राष्ट्रपति शासन पर भी बोले

पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन प्लांट जाने की मांग पर विजयवर्गीय ने कहा कि भाजपा सरकार दिवालिया और दिवालियापन का पालन करती है। गवर्नर की एक रिपोर्ट तीन साल पुरानी है, जिसके बाद केंद्र सरकार फैसला लेती है। कैलास विजय ग्रेडे ने कहा कि बीजेपी ने आज तक कभी भी एलोकेशन 356 (राष्ट्रपति शासन) का इस्तेमाल नहीं किया क्योंकि पार्टी लोकतंत्र में विश्वास रखती है। विजय ग्रेडे ने आगे कहा कि पश्चिम बंगाल में कोई लोकतंत्र नहीं है। मेरी यह राय है कि पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन स्थापित हो जाएगा। ये बीजेपी का विचार नहीं है. (इनपुट: भाषा)

ये भी पढ़ें- 'लेफ्ट को भी पीछे छोड़ दिया…', संदेशखाली को लेकर बीजेपी की ममता बनर्जी पर बड़ा हमला

प्रियंका के एक कॉल से हुआ सपा-कांग्रेस गठबंधन! यहां जानिए अलोकतांत्रिक से क्या डील हुई

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss