30.1 C
New Delhi
Friday, July 19, 2024

Subscribe

Latest Posts

कहीं आपका फोन भी तो वायरस की चपेट में तो नहीं? बिना पैसे खर्च किये इस तरह से करें बर्बाद


छवि स्रोत: फ़ाइल फ़ोटो
वायरस से बचाव करके आप अपने डेटा को सुरक्षित रख सकते हैं।

स्मार्टफोन से वायरस कैसे हटाएं: इंटरनेट का लगातार उपयोग करने और डेटा पोस्ट करने की वजह से कई बार टेक्नोलॉजी में वायरस अटैक का खतरा काफी बढ़ जाता है। अगर टेक्नोलॉजी पर वायरस जाए और समय पर ध्यान न दिया जाए तो इससे प्राइवेट डेटा के साथ हमारे पर्सनल डेटा पर भी खतरा बढ़ जाता है। अगर आपको ऐसा लग रहा है कि हार्डवेयर पर हमला हुआ है तो आपको ऐहतयात की जरुरत है।

बता दें कि कई बार ऐसा होता है कि फोन में वायरस आ जाता है और हम उसे ठीक से समझ नहीं पाते हैं। वायरस होने की वजह से फोन पर कई तरह की परेशानियां सामने आती हैं। आइये आपको इन स्टालों के बारे में जानकारी देते हैं, आपको पता चल जाएगा कि आपने किन-किन उपकरणों को खरीद लिया है और उनका भुगतान कर दिया है।

  1. अगर आपके फोन का डिस्प्ले बंद हो रहा है यानी लैग की समस्या आ रही है तो यह वायरस अटैक हो सकता है।
  2. यदि आपका फ़ोन बार पुनः आरंभ हो रहा है तो आपको फ़ोन पर वायरस हमला हो सकता है।
  3. अगर आपके फोन में अचानक से डेटा ज्यादा कंज्यूम हो रहा है तो आपके फोन में वायरस हो सकता है।
  4. अगर फोन पर देर से रिस्पॉन्स दिया जा रहा है तो हो सकता है कि फोन में वायरस हो।
  5. बिना पैसे खर्च किए इस तरह फोन से हटाएं वायरस

पैसे खर्च करने के लिए हर तरह के वायरस को हटाना जरूरी नहीं है। कई बार लोग छोटी मोटी परेशानी के लिए भी एंटीवायरस में फि जूल खर्च कर देते हैं। आइए आपको बताते हैं कि आप बिना पैसे खर्च किए कैसेट से वायरस का स्टार्टअप कर सकते हैं।

इस तरह से सेटेक से डिलीट होता है वायरस

  1. टेक्नोलॉजी की कैशे मेमोरी को क्लीन करके आप छोटे वायरस से डाउनलोड कर सकते हैं। कैशे स्मृति में टेंपरेरी फ़ाइल होती है। इसे क्लीन करने सेटेक्मेंट में कोई परेशानी नहीं आएगी।
  2. कई बार वायरस से बचने के लिए टेक्नोलॉजी को रीबूट करना भी खतरनाक होता है। बार-बार हैंग करने पर आप फोन को सेफ होने पर मॉड पर रीबूट कर सकते हैं।
  3. कई बार हैकर्स नेटवर्क कनेक्शन के जरिए वायरस अटैक करते हैं। इसलिए पब्लिक प्लेस में मीटिंग वाले वाई-फाई कनेक्शन से अपने फोन से कनेक्ट होने से बचना चाहिए।
  4. समय-समय पर अपने गूगल और अन्य अकाउंट के पासवर्ड दर्ज कर रहे हैं। कई बार पुराने दस्तावेज़ को हैक करना बेहद आसान हो जाता है। इसलिए जरूरी है कि समय-समय पर मंदिर में रहना।
  5. अगर आपको अपने स्मार्टफोन पर कोई ऐसा ऐप नजर आता है जिसे आपने इंस्टॉल किया है तो उसे तुरंत हटा दें। हो सकता है कि हैकर्स ने इसे आपके फोन पर सेंधमारी करके इंस्टाल किया हो।
  6. यदि ऊपर दिए गए नामांकित पात्रता से आपकी समस्या समाप्त नहीं होती है तो आप अपने हार्डवेयर को अंतिम रूप दे सकते हैं। हालाँकि आपको ध्यान रखना होगा कि आपके सारा डेटा का बैकअप ले लें फिर से आपका सारा डेटा ख़त्म हो जाएगा।

यह भी पढ़ें- बीएसएनएल का सबसे सस्ता प्लान, फेस्टिव ऑफर में कंपनी दे रही 365 दिन तक 2GB डेटा डेली



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss