31.1 C
New Delhi
Sunday, July 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

जहाज़ की जगह दलीप ने दी ड्रीम को उड़ान भरी, जो भूमिका निभाता है, बाकी सब जान


दलीप ताहिल अज्ञात तथ्य: वह कभी विलेन बने तो कभी कॉमेडियन तो कभी चाचा नेहरू। अंदाजन उनका ऐसा लग रहा था कि वे जो भी किरदार निभा चुके हैं, उन्हें पूरी तरह से डुबोकर निलंबित कर दिया गया है। हो रही है दलीप ताहिल की, संयोजन का जन्म 30 अक्टूबर 1952 को उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था। तीसरे स्पेशल में हम आपको दलीप ताहिल की जिंदगी के चंद किस्सों से रूका रहे हैं।

10 साल की उम्र से करने लगे थे अभिनय

यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि दलीप ताहिल को बचपन से ही अभिनय का काफी शौक था। ऐसे में वह 10 साल की उम्र से ही अभिनय करने लगीं थीं। उस वक्त उन्होंने नाटकों में अपनी अदाकारी का जादू दिखाया था। दलीप ताहिल के पिता बलिया ताहिल रमानी थे, जो इंडियन एयरफोर्स में काम करते थे। इसकी पोस्टिंग देश के अलग-अलग शहरों में होती थी। ऐसे में दलीप का बचपन भी अलग-अलग जगहों पर बीता। बता दें कि दल किप की स्कूलिंग कोचिंग स्थित शेरवुड कॉलेज से हुई, जिसके बाद कृपल मुस्लिम यूनिवर्सिटी और सेंट जेवियर कॉलेज से स्नातक की उपाधि प्राप्त की गई।

दलीप से मुंबई में मिली मंजिल

बचपन से ही अभिनय के प्रति रुझान के दलित नाटकों में काम करने लगे। उनकी अदाकारा इतनी बेहतरीन थी कि लोग ज़ोरदार वाहवाही करते थे। ऐसे में दलीप ने अभिनेत्रियों की दुनिया में ही अपना करियर बनाने का फैसला लिया। जब उनके पिता ने इंडियन एयरफोर्स छोड़ दिया तो उन्हें मुंबई में नई नौकरी मिल गई। ऐसे में पूरा परिवार मुंबई में ही सेटल हो गया, जिसमें दलीप अपनी मंजिल के बेहद करीब पहुंच गया।

जहाज़ की जगह स्वप्न को दी गई उड़ान

गौर करने वाली बात यह है कि जब दलीप ग्रेजुएशन कर रहे थे, उस दौरान उनके पिता ने उन्हें जहाज़ की क्रूज़ की ट्रेनिंग भी दी थी, लेकिन दलीप तो अभिनय की दुनिया में ही अपना करिश्मा बनाना चाहते थे। एक बार जब दिलीप थिएटर में अभिनय कर रहे थे, तब उन पर फिल्म निर्माता श्याम बेनेगल की नजर पड़ी। इसके बाद दलीप को फिल्म स्कोर में काम करने का मौका मिला, जो साल 1074 के दौरान रिलीज हुई थी।

छह साल तक भटकते रहे दलीप

बता दें कि स्कोर में छोटे-सा किरदार के बाद दलीप ताहिल को करीब छह साल तक काम नहीं मिला। ऐसे में उन्होंने जिंगल्स, रेस्टॉरेंट और विज्ञापन में काम करके अपना खर्चा बढ़ाया। साल 1980 के दौरान उन्हें फिल्म शान में काम करने का मौका मिला तो उन्होंने फिल्म गांधी में काम किया। दलीप को शोहरत के शेयरों पर फिल्म बाजीगर ने दिखाया। इस फिल्म में वे मदन चोपड़ा का किरदार निभा रहे थे।

बब्ज़ से भी है नाता

बिजनेसमैन की बात करें तो साल 2018 में दिलीप को मुंबई पुलिस ने गिरफ्तार किया था। बताया जाता है कि वह शराब के नशे में गाड़ी चला रही थी। उनकी कार को टक्कर मार दी गई, जिससे ऑटोमोटिव कारों में काफी गिरावट आई। हाल ही में इस मामले में दलीप ताहिल को सजा सुनाई गई है।

पति शाहिद कपूर के साथ ब्रंच डेट पर डिप्टीं मीरा राजपूत, सोशल मीडिया पर शेयर की रोमांटिक सेल्फी

Latest Posts

Subscribe

Don't Miss