34.1 C
New Delhi
Sunday, June 23, 2024

Subscribe

Latest Posts

‘हमास का हमला एक राक्षसी घटना थी, लेकिन…’, जफर सुरेशवाला ने दिया बड़ा बयान


छवि स्रोत: फ़ाइल
जफ़र सरेशवाला।

मुंबई: गुजरात के नरसंहार जफर सरेशवाला ने हमास पर इजराइल पर हमले को एक आपराधिक घटना करार दिया है। हालाँकि उन्होंने यह भी कहा कि इजराइल जो कर रहा है, वह भी गलत है। उन्होंने कहा, ‘हमास ने 7 अक्टूबर को जो एक नरसंहार की घटना को अंजाम दिया है। इसका किसी भी हाल में समर्थन नहीं किया जा सकता। लेकिन अब इजराइल जो कर रहा है, वह भी गलत है। अगर इजराइल को लगता है कि वह गाजा में आतंकवादी हमास को खत्म कर सकता है, तो यह गलत है। ‘जिन लोगों के पास कुछ बुढ़ापे को ही नहीं बचाया गया है, जो सिर्फ आपको नुकसान पहुंचाना चाहते हैं, वे कैसे बचेंगे।’

‘इज़राइल हमास को ख़त्म नहीं किया जा सकता’

सरेशवाला ने हमास और फिलिस्तीनियों को अलग-अलग करार दिया। उन्होंने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र के अध्यक्ष ने एक बार कहा था कि गाजा पट्टी पूरी धरती का सबसे बड़ा जहन्नुम है, तो ऐसे में इजरायल हवाई हमले या टैंक के जरिए हमास को खत्म नहीं किया जा सकता।’ हमास तो पूरे फ़िलिस्तीन में है ही नहीं। वेस्ट बैंक में तो दूसरे पक्ष के लोग हैं। वहां हमास को फिलिस्तीनी पसंद नहीं है। तो यह कहा जाता है कि हमास ही फिलिस्तीनी है। यह बिल्कुल गलत है। इस जंग का एक ही हाल है, 2 राज्यों का। ‘इजरायल को पूरी प्रतिष्ठा के साथ फिलिस्तीन की भावना का सम्मान दे।’

‘अभी चल रही जंग जल्द ही खत्म हो जाएगी’
सरेशवाला ने कहा कि अभी चल रही जंग जल्द ही खत्म हो जाएगी जिसमें ईरान, अमेरिका, यूएन और मिडिल ईस्ट को मिलाकर अलग कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘जो लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर इजरायल पर आरोप लगा रहे हैं, उन्होंने अपने ट्वीट को सही तरीके से नहीं पढ़ा।’ प्रधानमंत्री ने हमास के हमलों को हमलावरों पर हमला बोल दिया, जो हमारे देश में भी हो रहा है। भारत सरकार ने कभी भी उग्रवादियों का समर्थन नहीं किया और मोदी ने किया। पीएमओ की ओर से आज जो बयान आया है उसमें गाजा पर इजरायली हमलों की भी निंदा की गई है।’

‘मैं इजराइल से लेकर वेस्ट बैंक तक गया हूं’
सरेशवाला ने कहा कि पिछले 5 दशकों से फिलीस्तीन को लेकर हमारा जो खड़ा है, वह अब भी शामिल है। उन्होंने कहा, ‘मैं इजरायल से लेकर वेस्ट बैंक तक गया हूं।’ इजराइल में फिलिस्तीनी और अरब लोग आराम से रहते हैं। सामूहिक काम करते हैं। इजराइल में कई ऐसी जगहें हैं जहां मस्जिद, चर्च और यहूदियों की इतगाह एक साथ है। वहां आपको यह नहीं पता कि फिलीस्तीन और इजराइल के बीच कोई झगड़ा या तल्खी है। मैंने इजराइल में यहूदियों के घर भी खाना खाया तो मुस्लिम अरब के घर भी गए। इसलिए मैं इस दावे से कह सकता हूं कि यह जंग खत्म हो जाएगी।’

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss