31.1 C
New Delhi
Sunday, July 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

इस देश में चुनाव होने से पहले ही लग गया आपातकाल, सड़कों पर तैनात हुई सेना


Image Source : AP
इक्वाडोर में इमरजेंसी के दौरान तैनात सेना।

इक्वाडोर में राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार फर्नांडो विलाविसेंशियो की हत्या के बाद बुधवार को आपातकाल लगा दिया गया है। फर्नांडो की हत्या के बाद से ही शहर में हालात लगातार बेकाबू होते जा रहे हैं। राजधानी क्विटो में एक राजनीतिक रैली में फर्नांडो के सिर में गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई। इसके बाद अब आपातकाल लगाए जाने की घोषणा की गई। जबकि इक्वाडोर में राष्ट्रपति चुनाव होने जा रहे थे। चुनावी रैलियां और भाषण इन दिनों जोरों पर था।

इतना ही नहीं, फर्नांडो की यह हत्या ऐसे वक्त हुई जब दक्षिण अमेरिकी देश में मादक पदार्थ की तस्करी और हिंसा चरम पर है। क्विटो में विलाविसेंशियो की हत्या राष्ट्रपति चुनाव से लगभग दो सप्ताह पहले बुधवार को हुई। वह राष्ट्रपति पद की दौड़ में सबसे आगे नहीं थे। राष्ट्रपति गुलेर्मो लासो का कहना है कि हत्या की इस घटना को संगठित अपराध से जोड़ा जा सकता है। लासो ने तीन दिन के राष्ट्रीय शोक और आपातकाल लागू किए जाने की घोषणा की। पूरे देश में अतिरिक्त सैन्यकर्मियों को तैनात किया गया है। लासो ने बृहस्पतिवार को कहा, ‘‘एक लोकतंत्रवादी और सेनानी को खोना बहुत दुखद है, लेकिन चुनाव स्थगित नहीं किए जा रहे हैं; और इस तरह की घटनाओं को रोकना होगा तथा लोकतंत्र को मजबूत करना होगा।

सुरक्षाकर्मियों के घेरे में हमलावर ने कर दी थी हत्या

’’ सोशल मीडिया पर प्रसारित वीडियो में विलाविसेंशियो (59) को सुरक्षाकर्मियों के घेरे में कार्यक्रम से निकलते हुए देखा जा सकता है। वीडियो में उन्हें एक सफेद ट्रक में प्रवेश करते हुए और फिर उन पर गोलीबारी होती देखी गई। इक्वाडोर के अटॉर्नी जनरल के कार्यालय ने कहा कि राजनीतिज्ञ की हत्या के बाद सुरक्षाबलों की गोलीबारी में घायल एक संदिग्ध की मौत हो गई। इसने बताया कि क्विटो के विभिन्न क्षेत्रों में चलाए गए विभिन्न अभियानों में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया। विलाविसेंशियो को कई बार जान से मारने की धमकियां मिली थीं।

मौत से पहले फर्नांडो ने दिया था ये बयान

विलाविसेंशियो ने अपनी मृत्यु से पहले एक बयान में कहा था, “यहां मैं अपना चेहरा दिखा रहा हूं। मैं उनसे नहीं डरता।’’ फर्नांडो विलाविसेंशियो ‘बिल्ड इक्वाडोर मूवमेंट’ के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार थे। वह अगस्त के अंत में होने वाले चुनाव में राष्ट्रपति पद के आठ उम्मीदवारों में से एक थे। वह विवाहित थे और उनके पांच बच्चे हैं। वह खासतौर से पूर्व राष्ट्रपति राफेल कोरिया के 2007 से 2017 तक के कार्यकाल के दौरान भ्रष्टाचार के खिलाफ काफी मुखर रहे। उन्होंने कोरिया सरकार के कई शीर्ष सदस्यों के खिलाफ न्यायिक शिकायतें दर्ज कराई थीं। (एपी)

यह भी पढ़ें

हवाई में जंगल की भीषण आग ने ली 36 लोगों की जान, प्राण बचाने के लिए बच्चों और वयस्कों ने समुद्र में लगाई छलांग

चंद्रमा पर चंद्रयान-3 की लैंडिंग से पहले, मंगल ग्रह पर जीवन से जुड़ी आई ये खबर

Latest World News



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss