34.1 C
New Delhi
Tuesday, July 16, 2024

Subscribe

Latest Posts

दिल्ली वक्फ बोर्ड ने निकाली 150 कर्मचारियों की नौकरी, अमानतुल्ला ने निकाली थी भर्ती


छवि स्रोत: फ़ाइल
आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतशाह खान।

नई दिल्ली: दिल्ली वक्फ बोर्ड ने एक बड़ा कदम उठाते हुए अपने 150 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। एथलिट के मुताबिक, इन सभी कर्मचारियों की वोटिंग 2019 में दिल्ली वक्फ बोर्ड के पूर्व सुपरस्टार अमानतसोए खान ने की थी। इन सभी को पुराने के खिलाफ बिक्री वाली नौकरी पर आरोप लगाया जा रहा है और इस मामले में जांच भी चल रही है। कुछ दिन पहले आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्ला खान के बारे में यहां बताया गया था कि ईडी ने आरोप लगाया था कि उन्होंने दिल्ली वक्फ बोर्ड में अवैध भर्तियों के जरिए ‘अपराध से भारी मात्रा में अतिक्रमण जमा की’ और उक्त राशि का इस्तेमाल अपने सहयोगियों के साथ किया था। अचल संपत्ति का नाम अचल संपत्ति में है।

‘पैसे का इस्तेमाल संपत्ति की कीमत में हुआ’

ईडी ने खान और उनसे जुड़े लोगों के 13 ठिकानों पर छापेमारी की थी। एजेंसी ने एक बयान में दावा किया था कि 2018-2022 तक अमानत सईद खान के दिल्ली वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष गैर कानूनी भारतीयों और वक्फ की संस्थाओं को निजी लाभ के लिए अनुचित तरीकों से संबंधित मामले में शामिल किए गए थे। में की गयी. उन्होंने बताया कि सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की और दिल्ली पुलिस की ओर से 3 आरोपियों के आधार पर खान के खिलाफ कार्रवाई की गई। ईडी के मुताबिक, अमानत अमानत ने कथित तौर पर गलत तरीके से पैसे का इस्तेमाल दिल्ली में खुद से जुड़े लोगों के नाम पर अचल संपत्ति में किया।’

‘ईडी ने मुझसे 12 घंटे तक पूछताछ की’
वहीं, अमानतसोए खान ने इस मामले में खुलासा करते हुए कहा कि दिल्ली वक्फ बोर्ड में उनके खिलाफ 2016 में आयोजित भर्ती के संबंध में सीबीआई की एफआईआर में कोई आरोप नहीं था। खान ने आरोप लगाया कि उन पर केवल ईडी का आरोप है। ईडी की संपत्ति खत्म होने के बाद खान ने अपने ओखला स्थित घर के सामने कहा, ‘वे सुबह सात बजे मेरे घर की जांच करने आए थे। मेरे घर में कुछ भी नहीं है। उन्हें न तो पहले कुछ मिला, न ही इस बार कुछ मिला। उन्होंने सिर्फ मेरा मोबाइल फोन लिया। उन्होंने मुझे 12 घंटे तक परेशान किया। उन्होंने सभी को बेकार और दाराजें कुलां और बर्तनों में तब्दील कर दिया।’



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss