17.9 C
New Delhi
Tuesday, February 27, 2024

Subscribe

Latest Posts

कल तमिल तट से तूफ़ान ‘माइचौंग’ का संयोजन हो सकता है, प्रशासन ने मजबूत क़दम रखा है


छवि स्रोत: पीटीआई
तमिल में तूफ़ान मिचौंग की बौछार

चेन्नई: तमिल के तट वैज्ञानिक तट से रविवार को ‘माइचौंग’ तूफ़ान आ सकता है। राज्य सरकार ने इस तूफ़ान की आकर्षक स्थिति से लेकर सभी मजबूत कदम उठाने की घोषणा की है। ‘माइचौंग’ के तेजी से आगे बढ़ने और मंगलवार को दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तट से पहले चार दिसंबर को उत्तरी तमिलनाडु तट से टकराने की संभावना है। तूफान की वजह से सोमवार और मंगलवार को भारी बारिश होने की आशंका है। सरकार ने कहा है कि सोसायटी पर्याप्त संख्या में छोटे-छोटे टुकड़ों में बंटी हुई है और लोगों को जागरूक करने के लिए राहत केंद्र भी तैयार कर रही है।

4,967 राहत शिविर की तैयारी

सरकार की ओर से यह जानकारी दी गई है कि कावेरी डेल्टा क्षेत्र के अलावा, राज्य के उत्तरी और अन्य तटीय क्षेत्रों में सभी जलाशयों के साथ 121 बहुउद्देश्यीय केंद्र और 4,967 राहत शिविर तैयार किए गए हैं। अकेले चेन्नई में 162 राहत केंद्र तैयार किये गये हैं और ऐसे एक केंद्र में 348 लोगों को रखा गया है। साथ ही 714 स्टैम्प रेगिस्तान से पानी के झरने के लिए तैयार हैं। मयिलादुथुराई, नागप्पट्टिनम, तिरुवल्लुर, कडलूर, विल्लुपुरम, कांचीपुरम, चेंगलपेट और 225 मैड्रिड की नौ टीमों की राहत और मोक्ष की आपूर्ति के लिए तमिलनाडु इंजीनियरों की 350 टीमें शामिल हैं।

चौबीस घंटे काम कर रहे हैं आपातकालीन केंद्र

राज्य और जिला-स्तरीय आपातकालीन संचालन केंद्र अतिरिक्त कर्मचारियों के साथ चौबीसों घंटे काम कर रहे हैं। मदद के लिए रूम से संपर्क नंबर पर नियंत्रण किया जा सकता है। राजस्व और आपदा प्रबंधन मंत्री, केकेएसएसआर रामचन्द्रन और बिजली मंत्री थंगम थेनारासु ने राज्य के प्रतिनिधियों के लिए घाटों का निरीक्षण किया। थेनारासु ने कहा कि स्थिति से लेकर सरकारी मशीनरी और उपकरण तक की तैयारी है। लगभग 1,500 कर्मचारियों को लगभग 3 लाख से अधिक बिजली के खंभों के लिए तैयार किया गया है। इनके अलावा आवश्यक वाहन और क्रेन आदि भी तैयार हैं।

सार्वजनिक अवकाश घोषणा

समुद्री तूफ़ान ‘माइचौंग’ के करीब आने के लिए ही सरकार ने सोमवार (4 दिसंबर) को चेन्नई, तिरुवल्लुर, कांचीपुरम और चेंगलपट्टू में सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है। दूध आपूर्ति और स्वास्थ्य सेवाएँ जैसी आवश्यक व्यवसायिक सहायक कंपनियां। रेलवे ने कुल 118 रेलगाड़ियों को रद्द कर दिया है। आम जनता और व्यापारियों को समुद्री तूफ़ान के बारे में बताया गया है और 1,000 से अधिक समुद्री तट कृष्णमपट्टिनम सहित मछली पकड़ने वाले जहाज़ों वाले बंदरगाहों पर स्थित हैं।

110 किलोमीटर प्रति घंटे की नाव से चलेंगी हवाएं

मौसम विभाग ने कहा कि समुद्री तूफ़ान ‘मिचौंग’ दक्षिण-पश्चिम बंगाल की खाड़ी के ऊपर पुडुचेरी से लगभग 250 किमी पूर्व में, चेन्नई से 230 किमी पूर्व-दक्षिणपूर्व और नेल्लोर (आंध्र प्रदेश) से 350 किमी दक्षिण पूर्व में स्थित है। इसकी गति और अधिक है और चार दिसंबर की दो तारीख तक दक्षिण आंध्र प्रदेश और रेस्तरां उत्तरी टेंपल आइसलैंड से होते हुए पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी तक पहुंचने की संभावना है। इसके बाद, इस तूफान के उत्तर की ओर बढ़ने और पांच दिसंबर की सुबह एक गंभीर समुद्री तूफान के रूप में नेल्लोर और मछलीपट्टनम के बीच दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट को पार करने की संभावना है, जिससे 110 किलोमीटर प्रति घंटे तक हवाएं चल सकती हैं। हैं। (भाषा)

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss