12.1 C
New Delhi
Thursday, February 2, 2023
Homeराज्य-शहरCOVID टीकाकरण घोटाला: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने...

COVID टीकाकरण घोटाला: महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने केंद्र पर लगाया आरोप, कहा ‘राज्यों को अंधेरे में रखा गया’


नई दिल्ली: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक ने पिछले महीने मुंबई में सामने आए COVID-19 टीकाकरण घोटाले के लिए केंद्र को जिम्मेदार ठहराया है। मलिक ने एएनआई को बताया कि केंद्र सरकार इस घोटाले के लिए जिम्मेदार है क्योंकि उसने महाराष्ट्र सरकार को अंधेरे में रखा और राज्य को सूचित किए बिना निजी अस्पतालों को COVID-19 के टीके बेचे।

महाराष्ट्र के अल्पसंख्यक मंत्री मलिक ने आगे कहा कि अगर राज्य सरकार शुरू से ही निजी व्यक्तियों और निजी अस्पतालों, नगर पालिकाओं, निगमों और स्थानीय निकायों को टीकों की बिक्री के दौरान लूप में रखी जाती तो इस धोखाधड़ी को रोका जा सकता था।

फर्जी टीकाकरण मामले में गुरुवार को मुंबई पुलिस ने एक और शख्स को गिरफ्तार किया है. मामले में अब तक बारह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। 30 जून को प्राथमिकी दर्ज होने के बाद अब तक टीकाकरण घोटाला मामले में कुल नौ प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है. मामले के मुख्य आरोपी डॉक्टर मनीष त्रिपाठी को चार जुलाई तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

पुलिस के अनुसार, मई में मुंबई के समता नगर इलाके में एक टीकाकरण अभियान चलाया गया था, जिसमें चार अलग-अलग कंपनियों के 618 कर्मचारियों को टीका लगाया गया था, हालांकि, उनमें से किसी को भी टीकाकरण की पुष्टि करने वाला प्रमाण पत्र नहीं मिला। बाद में, उन्होंने मुंबई पुलिस से संपर्क किया और एक जांच शुरू की गई। जांच के दौरान, पिछले महीने हाउसिंग सोसाइटियों और निजी फर्मों के लिए फर्जी या अनधिकृत टीकाकरण शिविर आयोजित करने वाला एक रैकेट सामने आया था।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

लाइव टीवी

.