आज 23 जून को विक्रम संवत 2078 में ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि है। दिन बुधवार (बुधवार) रहेगा। त्रयोदशी तिथि सुबह 6:59 बजे तक रहेगी, जबकि सूर्योदय सुबह 5:24 बजे होगा। हिंदू मान्यताओं के अनुसार तिथि की गणना सूर्योदय के समय के अनुसार की जाती है। बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है। उन्हें समृद्धि, धन और ज्ञान का देवता माना जाता है। बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा करना शुभ माना जाता है।

सूर्योदय, सूर्यास्त, चंद्रोदय और चंद्रोदय का समय:

बुधवार को सूर्य सुबह 05:24 बजे उदय होगा और शाम 07:22 बजे अस्त होगा। चंद्रमा शाम 06:00 बजे उदय होगा और अगले दिन 24 जून को सुबह 04:37 बजे अस्त होगा।

23 जून के लिए तिथि, नक्षत्र और राशि विवरण:

त्रयोदशी तिथि 23 जून को प्रातः 06:59 बजे तक रहेगी और फिर चतुर्दशी तिथि पूरे दिन चलेगी। सुबह 11:48 बजे तक नक्षत्र अनुराधा रहेगा और उसके बाद ज्येष्ठ प्रारंभ होगा. सूर्य मिथुन राशि में रहेगा जबकि चंद्रमा वृषभ राशि में रहेगा।

23 जून को शुभ मुहूर्त:

सबसे शुभ मुहूर्त यानी अभिजीत मुहूर्त 23 जून को नहीं होगा। इसलिए, कोई नई शुरुआत करने या कोई धार्मिक कार्य करने के लिए विजय मुहूर्त, गोधुली मुहूर्त और अमृत कलाम पर विचार कर सकता है। विजय मुहूर्त दोपहर 02:43 बजे से 03:39 बजे तक, जबकि गोधुली मुहूर्त शाम 07:08 बजे से शाम 07:32 बजे तक होगा।

23 जून के लिए अशुभ समय:

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, राहु कलाम दोपहर 12:23 से दोपहर 02:08 के बीच होने की भविष्यवाणी की गई है। किसी शुभ कार्य की शुरुआत या घर से बाहर निकलने के लिए यह सबसे अशुभ समय होता है। अन्य अशुभ मुहूर्त जैसे यमगंडा और गुलिकाई कलाम क्रमशः सुबह 07:09 बजे से सुबह 08:54 बजे तक और सुबह 10:39 से दोपहर 12:23 बजे तक रहेंगे।

सभी नवीनतम समाचार, ताज़ा समाचार और कोरोनावायरस समाचार यहाँ पढ़ें Read

.