36 C
New Delhi
Sunday, June 23, 2024

Subscribe

Latest Posts

भारत में धीरे-धीरे पैर पसार रहा है ChatGPT, दे रहा है एक से बड़ा एक इनसाइट, बदलते हुए बिजनेस का तरीका


डोमेन्स

वेलोसिटी ने भारत का पहला चैट चैट किया है।
बैंगलोर स्थित कंपनी ने अपना नाम लक्ष्मी रखा है।
इसे वेलोसिटी इनसाइट्स के साथ एकीकृत किया गया है।

नई दिल्ली। इंडियन फाइनेंशियल टेक कंपनी वेलोसिटी ने देश का पहला चैटजीपीटी इंटिग्रेटेड चैटबॉट लॉन्च किया है। कंपनी ने इसका नाम लक्ज़री रखा है। वेलोसिटी ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के लाभ के कारण इसे अपने मौजूदा एनालिटिक्स टूल वेलोसिटी इनसाइट्स के साथ मिलकर बनाया है।
कंपनी के अनुसार, इस साझा किए गए चैटबॉट को मौजूदा एनालिटिक्स टूल वेलोसिटी इनसाइट्स के साथ एकीकृत किया गया है।

वेलोसिटी इनसाइट्स का उपयोग करने वाले भारतीय ई-कॉमर्स ब्रांड मेटा के स्वामित्व वाले वाट्सएप पर दैनिक बिजनेस रिपोर्ट प्राप्त कर सकते हैं। कंपनी के अनुसार वेलोसिटी इनसाइट्स के साथ चैटजीपीटी का इंटिग्रेशन ई-कॉमर्स दिग्गजों को कन्वर्जैशनल तरीके से वॉल्यूम-पावर्ड बिजनेस सॉल्यूशन ऑफर करने में मदद करेगा। इससे ई-कॉमर्स साइट्स को आपके महत्वपूर्ण व्यावसायिक कार्यों को विकसित करने में मदद मिलेगी।

इस अवसर पर वेलोसिटी के सीईओ अभिरूप मेधेकर का कहना है कि चैटजीपीटी के लॉन्च होने के बाद से उनकी प्रोडक्ट्स टीमें इस बात पर मंथन कर रही हैं कि किस तरह चैटजीपीटी से लाभ उठाया जा सकता है। चूंकि वेलोसिटी ग्राहक पहले से ही दैनिक इनसाइट्स का उपयोग करते हैं। इसलिए हमने उसी लिटिओ के साथ चैटजीपीटी को इंटिग्रेट किया है।

यह भी पढ़ें- क्या खत्म होगा Free ChatGPT, कंपनी ने साफ की स्थिति, दिखाएंगे नए सब्सक्रिप्शन प्लान

भारत सरकार भी कर रही है काम
बता दें कि वेलोसिटी इनसाइट्स वर्तमान में एडवांस्ड एनालिटिक्स प्रदान करता है जिसमें ईकामर्स बिजनेस की सेल और मार्केटिंग के बारे में जानकारी होती है। इस बीच भारत सरकार चैटजीपीटी द्वारा संचालित वाट्सऐप चैटबॉट (WhatsApp Chatbot) पर काम कर रही है। यह वाट्सऐप चैटबॉट किसानों को विभिन्न सरकारी योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में जानने में मदद करेगा।

सरकारी योजनाओं की जानकारी प्राप्त करें
इंडियन एक्सप्रेस में छपी एक खबर के मुताबिक, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय (MeitY) चैटजी पीटी पावर्ड वॉट्सऐप चैटबॉट आने के लिए काम कर रहा है। मंत्रालय की एक टीम ‘भाषिणी’ (भाशिनी) इस पर काम कर रही है। यह चैटबॉट किसानों को वॉयस कमांड के माध्यम से प्रमुख सरकारी योजनाओं के बारे में जानने में मदद करेगा।

12 आकाश गंगा को सपोर्ट करता है
वर्तमान में टेस्ट फेज में वाट्सऐप चैटबॉट अंग्रेजी, हिंदी, मराठी, बंगाली, कन्नड़, तमिल, अधिसूचना, ओडिया और असम सहितिया 12 आकाशवाणी को सपोर्ट करता है। सदस्य इनमें से किसी भी भाषा में वॉयस नोट भेज सकते हैं। बदले में उन्हें वॉयस नोट के जरिए प्रतिक्रिया मिलेगी।

टैग: आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस, तकनीक सम्बन्धी समाचार, टेक न्यूज हिंदी में, तकनीकी

Latest Posts

Subscribe

Don't Miss