29.1 C
New Delhi
Friday, July 19, 2024

Subscribe

Latest Posts

चारधाम यात्रा: इस साल 50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के साथ पिछले सभी रिकॉर्ड टूटे


इस साल चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या ने पिछले सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं. इस वर्ष पवित्र स्थान पर आने वाले लोगों की संख्या 50 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। चारधाम यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में वृद्धि ऑल वेदर रोड की सफलता और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के कुशल प्रबंधन को दर्शाती है। दिसंबर में होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर समिट से पहले ये आंकड़े पर्यटन क्षेत्र में निवेश करने वाले निवेशकों को आकर्षित कर रहे हैं।

2021 में, केवल 5.18 लाख श्रद्धालु ही यात्रा कर सके क्योंकि यात्रा कोविड महामारी के कारण प्रभावित हुई थी, जबकि 2022 में, 46.27 लाख से अधिक श्रद्धालु तीर्थयात्रा के लिए आए थे।

27 दिसंबर 2016 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑल वेदर रोड की आधारशिला रखकर उत्तराखंड में बेहतर कनेक्टिविटी की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया। इस महत्वाकांक्षी परियोजना का प्राथमिक उद्देश्य चार धाम: यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ के लिए हर मौसम में कनेक्टिविटी बढ़ाना था।

परियोजना ने तीर्थयात्रियों को सुरक्षित और सुविधाजनक परिवहन प्रदान किया, जिससे वे मौसम की स्थिति या प्राकृतिक बाधाओं से बाधित हुए बिना अपनी यात्रा कर सकें। इस बारहमासी सड़क परियोजना के पूरा होने से क्षेत्र और इसके निवासियों को बहुत लाभ होगा, जिसके सकारात्मक परिणाम वर्तमान में दिखाई दे रहे हैं। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलने के साथ-साथ क्षेत्र में व्यापार में भी आसानी होगी, जो अंततः उत्तराखंड के आर्थिक विकास को मजबूत करेगा।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी तीर्थयात्रियों की सुविधाओं में सुधार के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए थे, जिसमें चार धामों में भक्तों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण से लेकर दर्शन तक की विभिन्न व्यवस्थाएं शामिल थीं। यात्रा के लिए बड़ी संख्या में उन्नत एम्बुलेंस की उपलब्धता और डॉक्टरों की एक विशेष टीम के गठन ने भक्तों के लिए यात्रा को बेहद सुविधाजनक बना दिया है। इसी क्रम में, चार धाम तीर्थ स्थलों पर 50 स्वास्थ्य एटीएम भी स्थापित किए गए जो तीर्थयात्रियों को टेलीमेडिसिन सेवाएं प्रदान करते हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में डबल इंजन सरकार चारधाम यात्रा को और अधिक सुलभ और सफल बनाने के लिए लगातार काम कर रही है। इसलिए अगले साल ये रिकॉर्ड और टूट जाएं तो कोई आश्चर्य नहीं होगा.

Latest Posts

Subscribe

Don't Miss