• हिंदी समाचार
  • राष्ट्रीय
  • एनटीएजीआई प्रमुख ने दिया इंग्लैंड का उदाहरण; पारदर्शी रूप से लिया गया कोविशील्ड अंतराल का निर्णय। वैज्ञानिक साक्ष्य के आधार पर

नई दिल्ली7 घंटे पहले

  • लिंक लिंक

वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज में अंतर बढ़ाने के मामले पर नेशनल टेक्निकल एडवाइजरी ग्रुफ ऑन इम्यूनिसेशन (NTAGI) के डॉ। एनके बैठक का कार्यक्रम होता है। डॉक्टर पर्यावरण के उदाहरण के लिए उपयुक्त हैं। हरियाणा, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. तूफान ने कहा था कि यह सही है।

खराब होने पर भी बेहतर होता है। 12 कि क्लिक करने का परिणाम 65% से 88 प्रतिशत तक होता है। रोगाणुरोधक। इस प्रकार भारत में जांच की गई। 12 से 16 बजे तक जांच की गई। डॉक्टर ये कहा गया है कि ये विज्ञान के आधार पर तय किया गया है।

क़ीमत के हिसाब से
एनटीएजीआई ने आगे कहा है कि हमारे समूह ने फैसला किया है। ️ पारदर्शी️ पारदर्शी️️️️ बराबरी के हिसाब से बराबरी वाला डेटा बार-बार टीवी पर देखा जाता है। विश्लेषण 4 से 6 वर्ष बीतने के बाद भी विचार किया गया था। 4 से 6 पर बीच में बदला गया रिजल्ट 57 से 60 तक मिला।

ग्रॅप कमिंग का वर्गीकरण के बाद
डॉक्टर अरोड़ा ने कहा कि आगे कोवीडल्ड के 2 डोजग्राईड या कमल के फल के साथ होगा। इस प्रक्रिया में सफल होने के बाद यह प्रक्रिया सफल होगी। जो इस I

इंग्लैंड के मॉडल पर बात करते हुए NTAGI चीफ ने कहा कि एस्ट्राजेनेका के पहले डोज के बाद 33% और दूसरे डोज के बाद 60% रिजल्ट सामने आया है। इसके . हालांकि, भारत में पता लगाने के लिए लाभ बोध हो रहा है।

28-42 को खराब होने पर ️️️️️️️

  • कोवीशील्ड के दो डोज के लिए यह परिवर्तन है। 16 को टेस्टी तैयार की गई थी और इसे दो डोज का बनाया गया था। पर 22 अक्टूबर को कोवील्ड के दो का भेद 4-6 से 6-8 . 13 मई को यह जांच हुई।
  • नई लाइन वाले लोगों के लिए है लाई लाईन डोज लगना है और अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर जाना है। यह यात्रा परीक्षा परिणाम, कार्य या प्रदर्शन टीम के भविष्य पर निर्भर करेगा। ऐसे लोगों को कोवीड के ८४ में काम करने की तरह महसूस होना. वे पहली बार भी लग सकते हैं।

देश यातायात पर जाने वाले 28 दिन बाद दूसरा दो डो
पोस्ट ने लिखा ने कोवीलड के संपादन में परिवर्तन किया। आउटडोर यात्रा पर जाने के लिए बार बार बढ़ा दिया गया था। कुछ करने के लिए दो डोज के 84 दिन (12-16) का परीक्षण किया जाएगा। 28 दिन (4-6 बाद) दूसरा भी लगा सकते हैं। दोदोजकाप के लिए घटाया गया था। कोमिन के 2 दो पेज 28 दिन था। रद्दीकरण परिवर्तन रद्द किया गया।

कोवीशीड की डोजिंग में परिवर्तन किया गया है?

  • यह परिवर्तन भारत के बाहरी परिवहन उत्पादों के लिए सक्षम हैं जो प्रोस्पेक्टेड प्रोसीजर (एसओपी) को संचालित किया गया है। रिपोर्ट्स ने अध्ययन किया है। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) अपनी प्रतिक्रिया देता है। इस तरह से सुरक्षित हैं। खतरा होने का खतरा कम हो। साथसाथ में भी वैसी ही वैसी ही वैसी ही वैसी ही वैसी ही वैसी ही वैसी ही जैसे वे वैसी ही वैसी ही वैसी ही सुरक्षित महसूस करते हैं जैसी वैसी ही वैसी ही वैसी ही वैसी ही जैसी होती है । आकर्षक ढंग से
  • यह सभी लागू होगा। बाहरी व्यक्ति ८४ विदेश में रहने वाले हों तो. लोगों को राहत नहीं दी गई। उन्हें दूसरा डोज लेने के लिए 84 दिनों का इंतजार करना ही होगा।

खबरें और भी…

.