24.1 C
New Delhi
Wednesday, February 28, 2024

Subscribe

Latest Posts

भारत-कनाडा विवाद पर कनाडाई उपसेना प्रमुख का बड़ा बयान, आपसी संबंधों पर कह डाली ऐसी बात


Image Source : FILE
कनाडाई उपसेना प्रमुख का बड़ा बयान

Canada-India: भारत और कनाडा के बीच राजनयिक विवाद बना हुआ है। इसी बीच भारत ने कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो के भारत सरकार विरोधी अनर्गल बयान के बाद जमकर लताड़ लगाई है। वहीं दूसरी ओर कनाडा के पीएम की सत्ता के नेता ही उन पर आरोप मढ़ रहे हैं। इसी बीच कनाडा के उप सेना प्रमुख का इस मामले पर बड़ा बयान सामने आया है। कनाडा के उप सेना प्रमुख ने कहा है कि भारत-कनाडा राजनयिक विवाद का सैन्य संबंधों पर असर नहीं पड़ेगा।

कनाडा के उप सेना प्रमुख मेजर जनरल पीटर स्कॉट ने मंगलवार को कहा कि भारत और कनाडा के बीच मौजूदा राजनयिक विवाद का असर उनके आपसी सैन्य संबंधों पर नहीं पड़ेगा। इस मामले को राजनीतिक स्तर पर सुलझाना होगा। स्कॉट यहां हिंद-प्रशांत सैन्य प्रमुखों के सम्मेलन (आईपीएसीसी) में कनाडा के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं, जिसमें 30 से अधिक देशों से आए सैन्य प्रतिनिधिमंडल हिस्सा ले रहे हैं। उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘जहां तक मेरी जानकारी है, इसका हम पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। हमने मामले में प्रयास करने और इसे सुलझाने का जिम्मा राजनीतिक स्तर पर छोड़ दिया है।’

जस्टिन ट्रूडो के बयान से शुरू हुआ बवाल

मेजर जनरल स्कॉट ने कहा, ‘हम यहां आकर खुश हैं और हमें बिल्कुल भी नहीं लगता कि इस मुद्दे को लेकर इस मोड़ पर कोई असर पड़ेगा।’ खालिस्तानी अलगाववादी हरदीप सिंह निज्जर की जून में हुई हत्या में भारतीय एजेंटों की ‘‘संभावित’’ संलिप्तता के कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो के आरोपों के बाद भारत और कनाडा के बीच संबंध बेहद तनावपूर्ण हो गए हैं। भारत ने इन आरोपों को ‘बेतुका’ और ‘बेबुनियाद’ बताते हुए खारिज कर दिया था और इस मामले में कनाडा द्वारा एक भारतीय अधिकारी को निष्कासित किए जाने के बदले उसने भी कनाडा के एक वरिष्ठ राजनयिक को निष्कासित कर दिया था। 

यह राजनीतिक मुद्दा, सेनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा: कनाडाई सेना के अधिकारी

कनाडा की सेना के अधिकारी ने कहा, ‘‘दोनों देशों के बीच यह राजनीतिक मुद्दा है। निश्चित रूप से हमारे प्रधानमंत्री ने निचले सदन हाउस ऑफ कॉमन्स में यह मुद्दा उठाया था और वर्तमान में जारी स्वतंत्र जांच पर भारत के सहयोग का अनुरोध करते हुए एक बयान दिया था।’ उन्होंने कहा, ‘दोनों देशों की सेनाओं पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है। मैंने कल रात सेना के आपके कमांडर (सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे) से बात की। हम दोनों इस बात पर सहमत हुए कि यह एक राजनीतिक मुद्दा है और इसका हमारे संबंधों पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है।’

विशेष मंचों पर जारी रहेगी सहयोग, चर्चा

मेजर जनरल स्कॉट ने कहा, ‘अभी जो हम देख पा रहे हैं वह यह है कि हम सहयोग करना, चर्चा करना और इस तरह के विशेष मंचों के जरिए विचारों का आदान-प्रदान करना जारी रखेंगे जिससे हम हिंद-प्रशांत के कई देशों के सामने आने वाली कठिनाइयों का समाधान ढूंढ सकते हैं।’ भारतीय सेना हिंद-प्रशांत क्षेत्र में शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने को लेकर एक आम रणनीति विकसित करने के लिए हिंद-प्रशांत सेना प्रमुखों के दो दिवसीय सम्मेलन की मेजबानी कर रही है।

Latest World News



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss