13.1 C
New Delhi
Monday, March 4, 2024

Subscribe

Latest Posts

आज से बढ़ेगी ब्रिटिश वीजा की फीस, जानिए भारतीय छात्रों के लिए कितना फायदा और नुकसान


Image Source : SOCIAL MEDIA
ब्रिटिश वीजा की फीस में बढ़ोतरी

आज यानी 4 अक्टूबर से ब्रिटिश सरकार द्वारा वीजा फीस में बढ़ोतरी की गई राशि लागू हो जाएगी। इससे भारतीयों सहित दुनिया भर के लोगों के लिए ब्रिटेन की यात्रा महंगी हो जाएगी। पीटीआई की रिपोर्ट के अनुसार, 6 महीने से कम के विजिट वीजा की कीमत £15 और छात्र वीजा की कीमत £127 से अधिक होगी। आज से 6 महीने से कम के विजिट वीजा की कीमत £115 और छात्र वीजा के लिए आवेदन की कीमत £490 तक बढ़ जाएगी। इससे भारतीय छात्रों सहित अन्य विदेशी छात्रों के लिए ब्रिटेन में पढ़ाई महंगी हो जाएगी।

ब्रिटिश गृह कार्यालय ने बढ़ोतरी दर को उचित ठहराया

इस बढ़ोतरी दर को उचित ठहराते हुए, ब्रिटिश गृह कार्यालय के प्रवक्ता ने कहा, “वीज़ा एप्लीकेशन फीस में बढ़ोतरी करना सही और उचित है क्योंकि इससे हम महत्वपूर्ण सार्वजनिक सेवाओं को सही से फंड कर सकेंगे और सार्वजनिक क्षेत्र के सैलरी में योगदान करने के लिए वित्त पोषण की अनुमति दे सकें।”

ऋषि सुनक ने की थी फीस घोषणा

ब्रिटिश प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने जुलाई में फीस बढ़ोतरी को लेकर घोषणा की थी कि देश के सार्वजनिक क्षेत्र के वेतन वृद्धि को बनाए रखने के लिए यूके की स्टेट-फंडेड नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) के लिए वीजा आवेदकों द्वारा भुगतान की जाने वाली फीस और हेल्थ सर्चाज में “काफी” बढ़ोतरी की जाएगी। कुछ समय पहले सुनक ने कहा था, “हम उन प्रवासी लोगों के लिए फीस बढ़ाने जा रहे हैं जो इस देश में आने वाले प्रवासियों के लिए हैं, जब वे वीजा के लिए आवेदन करते हैं तो इसे इमिग्रेशन हेल्थ चार्ज (आईएचएस) कहा जाता है, ये फीस एक लेवी है जो वे एनएचएस तक पहुंचने के लिए भुगतान करते हैं।”

GBP बढ़ेगी 1 बिलियन से ज्य़ादा 

प्रवक्ता ने आगे कहा, “इन सभी फीसों में बढ़ोतरी होने जा रही है और इससे GBP 1 बिलियन से ज्य़ादा की बढ़ोतरी होगी, इसलिए पूरे बोर्ड में वीजा एप्लीकेशन फीस में काफी बढ़ोतरी होने वाली है और इसी तरह आईएचएस के लिए भी होगी।” गृह कार्यालय ने बताया कि अधिकतक कार्य और विज़िट वीज़ा की लागत 15% बढ़ जाएगी, और प्रीयारिटी वीज़ा, स्टडी वीज़ा और स्पांसरशिप सर्टीफिकेट की लागत कम से कम 20% ज्यादा होगी।

वीज़ा फीस बढ़ाना अनुचित

वहीं, फीस बढ़ोतरी को “विभाजनकारी” बताते हुए, यूके की आप्रवासियों के कल्याण के लिए संयुक्त परिषद ने कहा, “ब्रिटेन में अपना घर बनाने वाले लोगों के लिए वीज़ा फीस बढ़ाना अनुचित, विभाजनकारी और खतरनाक है, खासकर जीवन-यापन की लागत के संकट के दौरान।” यह कदम हम सभी के लिए जीवन को कठिन बना सकता है। हाई वीज़ा फीस के कारण पहले से ही परिवारों के पास आवश्यक चीज़ों के लिए नकदी नहीं है, वे वीज़ा के लिए बचत करने के लिए महीने-दर-महीने इकट्ठा कर रहे हैं।”

ये भी पढ़ें:

Kota: कोचिंग सेंटरों के लिए जारी हुई एक और गाइडलाइन, अब टेस्ट तो होगा पर रैंकिंग रोक

 

Latest Education News



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss