31.1 C
New Delhi
Sunday, July 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

फोन हैकिंग के वकील पर अश्विनी वैष्णव का कड़ा जवाब, कह दी बड़ी बात


छवि स्रोत: पीटीआई
केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव।

मंगलवार को देश की राजनीति में एक नया बवाल देखने को मिला। विभिन्न थोक विक्रेताओं के नेताओं ने अपने आइफोन में स्टेट स्पॉन्सर्ड पर हमलावरों पर हमला करने की कोशिश का आरोप लगाया। इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर जासूसी का आरोप लगाते हुए मगंलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की। हालाँकि, अब केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना परामर्श मंत्री अश्विनी वैष्णव ने टीका पलटवार किया है।

वैष्णव क्या बोले?

संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि कुछ व्यापारियों ने जो दावा किया है वह उनके पास के आदर्श केंद्र से एक संभावना है। इसके बारे में मैं साफ करना चाहता हूं कि सरकार यह मुद्दा बहुत गंभीर है, हम इस मुद्दे की तह तक जाएंगे। जांच के आदेश जारी किये गये हैं। इस देश में हमारे कुछ आलोचकों की आलोचना करने की आदत हो गई है। ये लोग देश की प्रगति को पचा नहीं सकते। ऐपल ने 150 देशों में जारी की ये सूचना। आवेदक के पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने अनुमान के आधार पर ये सूचनात्मक दस्तावेज़ दिया है।

गाँधीजी पर परीक्षण
केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने नामांकन पर बयान देते हुए कहा कि जब भी इनके पास कोई संसाधन नहीं होता है तो ये सिर्फ वृत्तचित्र की बात करते हैं। उन्होंने कुछ साल पहले भी इसकी जांच की थी। इस मामले की निगरानी पर्यवेक्षक द्वारा भी की गई थी, लेकिन कुछ भी सामने नहीं आया। वैष्णव ने कहा कि प्रियंका गांधी ने यह भी कहा था कि उनके दोनों बच्चों ने उन्हें फोन किया था, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। सिर्फ झूठा बेचा जा रहा है।

रचना का आरोप क्या है?
मंगलवार को टीएमसी नेता ज़ुआन मोइत्रा, विपक्षी (यूबीटी) नेता के प्रियचत्रचंद्र, कांग्रेस नेता शशि थरूर और पवन चौधरी ने कहा है कि उन्हें अपने फोन पर निर्माता से चेतावनी का संदेश मिला है। इस मैसेज में लिखा है कि, ‘स्टेट स्पॉन्सर्ड हमलावर उन्हें फोन करके चाकू मारने की कोशिश कर रहे हैं।’ आम आदमी पार्टी के सांसद राघव चन्ना और एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी का भी कहना था कि उन्हें ऐसी ही चेतावनी मिली है। इसके बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर जासूसी का आरोप लगाते हुए मगंलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी।

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी ने सरकार पर आधारित सार विश्लेषण में कहा- ‘जितनी टैपिंग करनी है कर लो, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता’

ये भी पढ़ें- मगरमच्छ राज्य को ‘चौपट’ कहे जाने पर भड़के सीएम शिवराज, बोले- जय-वीरू में मची लूट की होड़

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss