31.1 C
New Delhi
Sunday, July 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

Apple ने प्रमुखों को भेजा अनुरोध-‘स्टेट जनरल बिजनेसमैन आपके iPhone को सस्ता बना सकते हैं’


छवि स्रोत: सोशल मीडिया
कृप्या ने कारीगरों को भेजा प्रस्ताव

31 अक्टूबर, 2023 को संसद के कम से कम थ्री फ्रैंचाइज़ी सदस्यों ने एक विशेष जानकारी साझा की और कहा कि उन्हें Apple से चेतावनी मिली है कि “राज्य के क्रांतिकारी अपने iPhones को ख़राब कर सकते हैं।” इन नेताओं में शिव सेना (उद्धव गुट) के समाजवादी पार्टी के कम्युनिस्ट नेता चतुवेर्दी, प्रशांत के पवन सह-अध्यक्ष नेता ने एक्स (पूर्व में रेडियो) को सुझाव दिया है और केंद्र सरकार पर हमला बोला है। इसके बाद एप्पल ने इस बारे में बताया कि एल्गोरिथम की खस्ताहालत के कारण ये मेल आया। कंपनी की ओर से कुछ देर में बयान जारी किया जाएगा।

लीडर्स ने जो संदेश साझा किया है उसमें लिखा है “चेतावनी: राज्य-प्रयोजित व्यापारी आपके आईफोन को बना सकते हैं,” सांस्कृतिक को “[email protected]” से प्राप्त संदेश में कहा गया है। “Apple का फेल है कि आप स्टेट-प्रोयोजित डेवलपर द्वारा तैयार किया जा रहा है जो आपके Apple ID से जुड़े iPhone को खतरे में डालने की कोशिश कर रहे हैं।” आप कौन हैं या क्या करते हैं, इसके आधार पर ये निवेशक संभावना आपको व्यक्तिगत रूप से तैयार कर रहे हैं। यदि आपके उपकरण के साथ किसी राज्य-प्रयोजित हमलावरों ने चोरों की तलाश की है, तो वे आपके संदेश डेटा, संचार, या यहां तक ​​कि कैमरे और माइक्रोफोन तक पहुंच में सक्षम हो सकते हैं। यद्यपि यह संभव है कि यह गलत है, कृपया इस चेतावनी को लें,”

किशोर न्यू यॉर्क मोइत्रा ने मोदी सरकार की कथित संतगांध पर सवाल उठाया और लिखा कि, केंद्रीय गृह मंत्रालय की प्रतिक्रिया का इंतजार है “एप्पल से मुझे संदेश और ईमेल मिला जिसमें मुझे चेतावनी दी गई कि सरकार मेरे फोन और ईमेल को हैक करने की कोशिश कर रही है। चाइनीज़ मोइत्रा ने संदेश का साझा आरोप लगाया।

वहीं कांग्रेस नेता पवन महासचिव ने पोस्ट किया, ”प्रिय मोदी सरकार, आप ऐसा क्यों कर रहे हैं?” “आश्चर्य है ये कौन है? आपको शर्म आनी चाहिए। “ऐप्पल डेंजरस की गारंटी वाले ग्राहकों को सूचित करने और सहायता करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिसमें राज्य-प्रोयोजित डेवलपर्स द्वारा लक्षित किया जा सकता है।

इन चतुर्थांशों को व्यक्तिगत रूप से इस आधार पर लक्षित किया जाता है कि वे कौन हैं या क्या करते हैं।” व्याख्यान में कहा गया है, “पैराम्प्रिक साइबर क्लबों के विपरीत, राज्य-प्रायोजित प्रतिभागियों में बहुत कम संख्या में विशिष्ट लोग और उनके समूह हैं।” लक्ष्यीकरण के लिए बुनियादी तत्वों का उपयोग किया जाता है, जिससे इन आंकड़ों का पता चलता है और लाभ बहुत कठिन हो जाता है।”

नवीनतम भारत समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss