29.1 C
New Delhi
Friday, June 21, 2024

Subscribe

Latest Posts

इजराइल हमास के संघर्ष में अमेरिका भड़क उठा, दुश्मनों को मार गिराया ये चेतावनी


छवि स्रोत: फ़ाइल
अमेरिकी राष्ट्रपति जो मैसेंजर।

इजराइल हमास युद्ध पर अमेरिका: इजराइल हमास की जंग में अब तक अमेरिका शांति से तबाह था। गाजा में मदद से लेकर मध्य पूर्व के देशों तक सभी को नियंत्रण में रखने की कोशिश की गई, लेकिन इस जंग में अब अमेरिका भी पहली बार भड़का है। अमेरिका ने अपने दुश्मनों को एलईटी चेतावनी नष्ट कर दी है कि यदि संघर्ष में कोई भी अपनी सेना को मजबूत बनाता है, तो दुश्मनों को बहुत बुरी तरह से नष्ट कर दिया जाएगा।

इजराइल और हमास के बीच संघर्ष में अमेरिका ने सबसे सक्रिय भूमिका निभाना शुरू कर दिया है। 7 अक्टूबर को जब हमास ने इजराइल पर तीन ओर से खूनी हमला किया, तब अमेरिका अपने पारंपरिक मित्र इजराइल के साथ था। इसके बाद अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और फिर अमेरिकी राष्ट्रपति जो मैजेंटा ने इजराइल पर हमला किया और अपना समर्थन दिया। अमेरिका ने इस मामले को लेकर अभी तक बहुत गंभीरता से लिया है। गाजा सीमा सामुद्रिक मिस्र के रास्ते से सहायता सामग्री गाजा तक पहुँचने के लिए अमेरिका की ओर से पहला ऋण जारी है। लेकिन हमास, हिज़बुल्ला और परोक्ष के रूप में अमेरिका के दुश्मन ईरान के ‘कारस्तानियों’ को अमेरिका ने सीधे तौर पर चेतावनी दी है कि वे ईरान को नष्ट कर दें।

अमेरिका के दो जंगी बेड़े पहले से ही एसेट

अमेरिका ने कहा है कि हमारे एक भी सैनिक के साथ अगर इस संघर्ष में कुछ भी गलत हुआ, तो दुश्मनों की खैर नहीं। अमेरिका ने पहले यह चेतावनी दी थी कि उसके दो जंगी जहाज के बेड़े में मिसाइलें, फाइटरजेट और अन्य हथियार और सैनिक शामिल हैं। ये जंगी जहाज़ पहले ही स्थापत्य सागर में स्थित हैं। इनमें से एक ने तो यमन के होती विद्रोहियों की ओर से इजराइल पर चले गए क्रूज मिसाइल और डूबने को नष्ट कर दिया था।

ईरान परोक्ष रूप से बढ़ा रहा है जंग

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रक्षा मंत्री लॉयड ऑस्टिन ने रविवार को कहा कि यह तय है कि इजराइल और हमास के बीच जंग को फिर से जारी करने के लिए ईरान परोक्ष शक्तियों का कब्जा है। हालाँकि, उन्होंने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि अगर इस दौरान किसी अमेरिकी सैनिक या सशस्त्र बल को कम किया गया, तो अमेरिका अपने दुश्मनों को बहुत बुरी तरह से खत्म करने के लिए मजबूर करेगा।

हमला हुआ तो कार्रवाई में एक पल की देर नहीं होगी: ब्लिंकन

विदेश मंत्री ब्लिंकन ने कहा, ‘हम बिल्कुल ऐसा नहीं चाहते, न ही हम इसकी उम्मीद करते हैं।’ हम अपने सैनिकों और सैन्य संरचनाओं को सीमांत नहीं देखना चाहते हैं। लेकिन अगर ऐसा होता है तो हम आगे की कार्रवाई के लिए तैयार हैं।’ अमेरिकी रक्षा मंत्री ने अपनी बात में दो टूक कहा कि हम अपने सैन्य ठिकानों और लोगों पर हमले की आशंका पर भी नजर रख रहे हैं। लेकिन अमेरिका के पास आपकी मुक्ति का पूरा अधिकार है। अगर हमला हुआ तो कार्रवाई करने में एक पल भी नाकाम नहीं होगा।

हम तीसरा मोर्चा नहीं बनाना चाहते, पर हमला हुआ तो जवाब देंगे: अमेरिकी विदेश मंत्री

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा कि इजरायल-हमाल संघर्ष के बीच कोई दूसरा या तीसरा मोर्चा नहीं देखना चाहता। हालाँकि, ईरान के समर्थक मित्र हमारी सेना को लोकप्रिय बना सकते हैं। इसलिए हम कदम उठा रहे हैं, रयान हम अपने लोगों की रक्षा कर रहे हैं और स्थिर स्तर पर हमला करने वालों को जवाब दे रहे हैं। उन्होंने बताया कि पश्चिमी एशिया क्षेत्र में दो एयरक्राफ्ट बैटल ग्रुप्स की स्थापना की गई है, जो भड़काने के लिए नहीं, बल्कि किसी भी तरह की हरकत को रोकने के लिए हैं।

मध्य पूर्व की हर ‘गतिशीलता’ पर नजर

बता दें कि संघर्ष शुरू होने के बाद अब गाजा के साथ ही लेबनान और सीरिया व यमन की ओर से भी हमले का असर दिया जा रहा है। इसी बीच अमेरिका ने मध्य पूर्व में अपने नागरिकों को शराबबंदी के लिए जारी करने की मांग की है।

साथ ही इराक में अपने दूतावास से सभी गैर-जरूरी कर्मचारियों को वापस बुलाया गया है। अमेरिका मिडिल ईस्ट की हर गतिविधि पर अपनी पूरी नजर रखी हुई है।

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss