34.1 C
New Delhi
Sunday, June 23, 2024

Subscribe

Latest Posts

इजरायल-हमास युद्ध के बीच इजरायलियों की सुरक्षा को लेकर भारत में अलर्ट, संवेदनशील इलाकों में बढ़ाई गई गश्त


नई दिल्ली: मैंचल रहे इज़राइल-हमास संघर्ष के मद्देनजर, अब सातवें दिन, भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने देश में वर्तमान में रहने वाले इज़राइली नागरिकों की सुरक्षा के लिए देशव्यापी सुरक्षा अलर्ट जारी किया है। प्रासंगिक सुरक्षा प्रतिष्ठानों और पुलिस को दिया गया यह अलर्ट निर्दिष्ट स्थानों पर सुरक्षा बढ़ाने पर जोर देता है। विशेष रूप से, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश और गोवा जैसे राज्यों से अत्यधिक सावधानी बरतने का आग्रह किया गया है। देशभर में सुरक्षा एजेंसियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

सुरक्षा कड़ी कर दी गई


राजनयिकों, कर्मचारियों और पर्यटकों सहित इजरायली नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए, उनके द्वारा अक्सर आने-जाने वाले स्थानों पर पर्याप्त सुरक्षा तैनाती लागू की गई है। इसमें उच्च पैदल यातायात वाले क्षेत्र शामिल हैं, जैसे कोषेर रेस्तरां, संग्रहालय, स्कूल, रिसॉर्ट और लोकप्रिय पर्यटन स्थल। स्थानीय पुलिस सहित पुलिस को इन क्षेत्रों की निगरानी के लिए चौबीसों घंटे गश्त बनाए रखने का निर्देश दिया गया है। यदि आवश्यक समझा गया तो सुरक्षा उपायों को और मजबूत करते हुए स्थानीय पुलिस को अतिरिक्त बल आवंटित किया जाएगा।



इजरायली प्रतिष्ठानों की सुरक्षा पर ध्यान दें


उभरती स्थिति के जवाब में, एक शीर्ष सरकारी अधिकारी ने इजरायली मिशनों, राजनयिकों, अधिकारियों, कर्मचारियों, व्यापारिक प्रतिष्ठानों, चबाड हाउस और यहूदी सामुदायिक केंद्रों के लिए सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने पर जोर दिया है। बढ़ी हुई सुरक्षा में शुक्रवार की प्रार्थना के दौरान महत्वपूर्ण पुलिस उपस्थिति और यहूदी धार्मिक प्रतिष्ठानों और इज़राइल दूतावास पर बढ़ी हुई सतर्कता शामिल है।

वैश्विक सुरक्षा उपाय


भारत के अलावा, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी जैसे कई देशों ने इज़राइल में बढ़ती हिंसा के कारण “संभावित यहूदी ठिकानों” और “फिलिस्तीनी समर्थक प्रदर्शनकारियों” के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी है। उदाहरण के लिए, फ्रांस ने सार्वजनिक व्यवस्था की चिंताओं का हवाला देते हुए फिलिस्तीन समर्थक प्रदर्शनों पर प्रतिबंध लगा दिया है, इस कदम की कुछ लोगों ने भाषण और सभा की स्वतंत्रता पर संभावित उल्लंघन के लिए आलोचना की है।

युद्ध का मानवीय प्रभाव


जैसे-जैसे संघर्ष सातवें दिन में प्रवेश कर रहा है, दोनों पक्षों में हताहतों की संख्या में वृद्धि जारी है। इज़रायली प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने “युद्ध की स्थिति” की घोषणा की है और गाजा पर महत्वपूर्ण प्रभाव डालने का वादा किया है। इस बीच, मानवीय प्रयास में, भारत ने युद्ध प्रभावित इज़राइल में फंसे 212 भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए “ऑपरेशन अजय” शुरू किया।

संघर्ष में नागरिकों की संख्या चिंताजनक बनी हुई है, बड़ी संख्या में फ़िलिस्तीनियों के हताहत होने और घायल होने की सूचना है। इसका प्रभाव संघर्ष क्षेत्र से आगे तक फैला हुआ है, जो वेस्ट बैंक और पूर्वी येरुशलम जैसे क्षेत्रों को प्रभावित कर रहा है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता ने फिलिस्तीनियों के व्यापक विस्थापन और मानवीय सहायता की तत्काल आवश्यकता पर प्रकाश डाला है।

संभावित ज़मीनी आक्रमण के आसार


इज़राइल के रक्षा बलों (आईडीएफ) ने एक महत्वपूर्ण निर्देश जारी किया है, जिसमें उत्तरी गाजा में फिलिस्तीनी आबादी से 24 घंटे के भीतर पट्टी के दक्षिणी हिस्से में स्थानांतरित होने का आग्रह किया गया है। इस कदम का श्रेय गाजा शहर के नीचे सुरंगों में हमास के गुर्गों की मौजूदगी को दिया जाता है, जो संभावित जमीनी आक्रमण की ओर इशारा करता है। आईडीएफ ने व्यक्तिगत सुरक्षा पर जोर दिया है और हमास के आतंकवादियों से दूरी बनाने को प्रोत्साहित किया है जो मानव ढाल के रूप में नागरिकों को बरगलाते हैं। चल रहा संघर्ष क्षेत्र में जटिलताओं और मानवीय चुनौतियों को उजागर करता है।

हताहतों की संख्या में वृद्धि


संघर्ष ने वेस्ट बैंक और पूर्वी येरुशलम को भी प्रभावित किया है, जिसमें 36 लोगों की मौत और 650 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने बताया कि संघर्ष के कारण 338,000 से अधिक फिलिस्तीनी विस्थापित हुए हैं, जिनमें से लगभग 218,000 संयुक्त राष्ट्र राहत और कार्य एजेंसी द्वारा संचालित स्कूलों में शरण मांग रहे हैं।

युद्ध रोकने की बढ़ती मांग


संघर्ष की स्थायी प्रकृति बातचीत को सुविधाजनक बनाने और शांतिपूर्ण समाधान लाने के लिए तत्काल अंतरराष्ट्रीय प्रयासों की आवश्यकता को रेखांकित करती है। हिंसा में वृद्धि के लिए शत्रुता को रोकने और क्षेत्र में स्थायी और स्थायी शांति की दिशा में काम करने के लिए एक ठोस वैश्विक पहल की आवश्यकता है।



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss