38.1 C
New Delhi
Sunday, June 23, 2024

Subscribe

Latest Posts

अमेरिका के बाद रोमानिया में चीन का जासूसी गुब्बारा दिखाते हुए मिग-21 अलग-अलग हो गया


छवि स्रोत: एपी
चीन का जासूसी गुब्बारा (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली। अमेरिका के बाद चीन का जासूसी गुब्बारा अब रोमानिया और जापान पहुंच गया है। इसके बाद पूरी दुनिया में खलबली मच गई। अमेरिका द्वारा गत 4 फरवरी को चीन की संदिग्ध जासूसी को मार गिराए जाने के बाद ही चीन की कली खुल गई है। कई अंतरराष्ट्रीय मीडिया में कहा गया है कि चीन 40 से अधिक देशों की गुप्त निगरानी कर रहा है। यह स्पाई ब्लू ड्रैगन की इसी स्पाई का हिस्सा है। हालांकि चीन ने इन दावों को खारिज कर दिया था। मगर अब चीनी पर्दे ने रोमानिया और जापान में भी हलचल मचा दी है।

रोमानिया के मंत्रालय का कहना है कि हमारे हवाई क्षेत्र में संदिग्ध दृश्य का पता चला है। रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि रोमानियाई वायु सेना की निगरानी प्रणाली ने एक हवाई वस्तु का पता लगाया, जो देश के हवाई क्षेत्र में खतरे की तरह उड़ रही थी। मंत्रालय ने कहा कि रोमानिया के दक्षिण-पूर्व संदिग्ध मौसम गुब्बारे को देखने के 10 मिनट बाद ही 2 मिग 21 लांसआर जेट ने उसका पीछा किया, लेकिन तब तक वह चूक गया। यह गुब्बारा 11,000 मीटर की ऊंचाई पर उड़ रहा था। उल्लेखनीय है कि अमेरिका ने गत 4 फरवरी को चीन के एक ऐसे संदिग्ध जासूसी चश्मदीद को मार गिराया था। इसके बाद संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बीच राजनयिक विवाद उत्पन्न हुआ। अब रोमानिया में भी ऐसी गतिविधियां देखी गई हैं।

30 मिनट तक रोमानिया के रूप में पीछा किया

रोमानिया के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि विमान के चालक पक्ष लक्ष्य के नहीं दिख रहे हैं और योजनाओं में इसकी पुष्टि नहीं हो पा रही है करीब 30 मिनट तक संदिग्ध वस्तु का पता लगाने में क्षेत्र में ही डटे रहे। मगर पुष्टि नहीं हो पाने पर वह बेस पर लौट आया।

रोमानिया के बाद जापान ने भी संदिग्ध गुब्बारा होने का दावा किया
रोमानिया का पीछा करने के बाद संदिग्ध गुब्बारा विलुप्त हो गया। इसके बाद जापान के रक्षा मंत्रालय ने भी अपने आकाश में चीन के संदिग्ध प्रत्यक्षदर्शी को देखने का दावा किया। जापान के रक्षा मंत्रालय को ‘दृढ़ता से संदेह’ है कि चीनी निगरानी निगरानी जापानी क्षेत्र में प्रवेश कर चुकी है। कहा जा रहा है कि सर्फ़साइड के बीच में तट से नीचे गिरने के बाद संदिग्ध चीनी जासूसी गुब्बारा समुद्र में चला गया।

जापान के रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार को कहा कि उसे “दृढ़ता से संदेह” है कि चीनी निगरानी 2019 के बाद जापानी क्षेत्र में कम से कम तीन बार प्रवेश कर चुके हैं। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, 2019, 2020 और 2021 में ऐसे ही संदिग्ध गुब्बारों का पता चला था, जिसमें कहा गया था कि जापान ने चीन की सरकार से स्थिति के बारे में सच्चाई को देखा और सुनिश्चित करने के लिए ऐसा किया था न हो। इसके बावजूद चीन की हरकतों में कोई सुधार नहीं आया।

यह भी पढ़ें…

मोदी ने बाइडन से फोन पर बात की, एयर इंडिया और बोइंग समझौते को नया मुकाम मिला

कभी भारत के खिलाफ आग उगलने वाले नेपाल के पूर्व पीएम केपी शर्मा ओली ने अब बताया प्रगाढ़ दोस्त, जानें और क्या कहा?

नवीनतम विश्व समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss