34.1 C
New Delhi
Monday, June 24, 2024

Subscribe

Latest Posts

एयरो इंडिया 2023: यूके ने रक्षा संबंधों को गहरा करने, क्षेत्रों में सहयोग करने की योजना बनाई है


छवि स्रोत: भारत में TWITTER/UK एयरो इंडिया 2023 में यूके की टीम में रक्षा खरीद मंत्री एलेक्स चाक, रॉयल एयर फोर्स के एयर वाइस-मार्शल रिचर्ड मैडिसन और रोल्स रॉयस, एमबीडीए यूके, थेल्स यूके और अन्य जैसे ब्रिटिश निर्माण दिग्गज शामिल थे।

यूके सरकार ने सोमवार को कहा कि यूके के रक्षा क्षेत्र को भारत के प्रमुख एयर शो, एयरो इंडिया 2023 में बेंगलुरु में तैनात किया गया था, जिसमें अनुसंधान, प्रशिक्षण और विकास में भारत के साथ सहयोग करने में गहरी दिलचस्पी थी।

एयरो इंडिया 2023 में यूके की टीम में रक्षा खरीद मंत्री एलेक्स चाक, रॉयल एयर फोर्स के एयर वाइस-मार्शल रिचर्ड मैडिसन और रोल्स रॉयस, एमबीडीए यूके, थेल्स यूके, बीएई सिस्टम्स, कॉलिन्स एयरोस्पेस और लियोनार्डो जैसे ब्रिटिश निर्माण दिग्गज शामिल थे। सरकार, रक्षा और सेना के प्रतिनिधि भी थे।

यह भी पढ़ें: भारत बनेगा डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब, 2 साल में हथियारों का निर्यात बढ़ाकर करीब 5 अरब डॉलर करने की योजना

ब्रिटिश उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने कहा कि यूके के प्रतिनिधिमंडल एयरो इंडिया 2023 में ‘आत्मनिर्भरता’ का समर्थन कर रहे हैं। प्रतिनिधिमंडल इस सप्ताह कई भारतीय हितधारकों से मुलाकात करेगा। वे न केवल ‘मेक इन इंडिया’ बल्कि ‘क्रिएट इन इंडिया’ के लिए ब्रिटेन के समर्थन की पुष्टि करने के लिए समुद्री विद्युत प्रणोदन के लिए जेट इंजन और प्रौद्योगिकी विकसित करने के लिए साझेदारी जैसे महत्वपूर्ण सहयोग पर भी चर्चा करेंगे।

यह भी पढ़ें: तेजस जेट, आईएनएस विराट भारत की क्षमता का उदाहरण, एयरो इंडिया 2023 का उद्घाटन करते हुए पीएम मोदी ने कहा

ब्रिटिश उच्चायुक्त ने आगे कहा कि ब्रिटेन भारत के साथ अपने संबंधों को और गहरा करना चाहता है। उन्होंने कहा कि यूके पहले से ही भारत के साथ व्यापार कर रहा है, एफटीए पर बातचीत कर रहा है और यूके में भारतीय छात्रों की संख्या में शीर्ष पर है। एयरो इंडिया 2023 के 14वें संस्करण का उद्घाटन प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 13 फरवरी को बेंगलुरु में येलहंका वायु सेना स्टेशन परिसर में किया था। इस कार्यक्रम में 98 देशों और लगभग 800 रक्षा फर्मों की भागीदारी देखी जाएगी।




सामान्य प्रश्न
1- एयरो इंडिया 2023 का उद्देश्य क्या है?

एयरो इंडिया 2023 का उद्देश्य एयरोस्पेस क्षेत्र में देश की वृद्धि और क्षमताओं को प्रदर्शित करना है और साथ ही सैन्य विमानों, हेलीकाप्टरों और सैन्य उपकरणों के निर्माण में निवेश और सहयोग को आकर्षित करना है।

2- कौन सी रक्षा कंपनियां हैं जो एयरो इंडिया 2023 में भाग लेंगी?
एयरबस, बोइंग, आर्मी एविएशन, एचसी रोबोटिक्स, ब्रह्मोस एयरोस्पेस, लॉकहीड मार्टिन, इज़राइल एयरोस्पेस इंडस्ट्री, डसॉल्ट एविएशन, रोल्स रॉयस, लार्सन एंड टुब्रो, SAAB, Safran कुछ बड़ी रक्षा कंपनियाँ हैं जो Aero India 2023 में भाग लेंगी।

नवीनतम व्यापार समाचार



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss