24.1 C
New Delhi
Wednesday, February 28, 2024

Subscribe

Latest Posts

अभिनंदन वर्धमान: भारतीय वायुसेना का बहादुर शेर, जिसने पाकिस्तान को घर में घुसकर मारा


Image Source : INDIA TV
अभिनंदन वर्धमान

Indian Air Force Day: 14 फरवरी 2019, यह दिन शायद ही कोई भारतीय भूल सकता है। इस दिन कुछ कायर आतंकियों ने  जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में CRPF के काफिले पर हमला कर दिया। इस हमले में 40 जवानों की दुखद मौत हो गई। पूरा देश गुस्से में था। हर कोई आतंकियों के आका पाकिस्तान को माकूल जवाब देने की बात कर रहा था। सब को लग भी यही रहा था कि भारत सरकार और सेना पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देगी। सेना का भी कुछ ऐसा ही प्लान था। 26 फरवरी 2019 को भारत ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर एयरस्ट्राइक कर दी। इससे पाकिस्तान बिलबिला गया। उसने भी भारत पर हमला करने की सोची।

भारत पर हमला करने आये थे F-16 लड़ाकू विमान 

पाकिस्तान ने भारत के इस स्ट्राइक का जवाब देने एक लिए अगले दिन यानि 27 फरवरी को भारतीय सैन्य ठिकानों पर हमला करने की सोची। उसने अपने इस अभियान के लिए अमेरिका से खैरात में मिले F-16 से हमला करने के लिए भेजा। भारतीय वायुसेना पाकिस्तान की इस नापाक हरकत के लिए तैयार बैठी थी। वायुसेना ने पाकिस्तान को जवाब देने के लिए 24 लड़ाकू विमानों को भेजा। इन 24 लड़ाकू विमानों में से एक को अभिनंदन वर्धमान भी उड़ा रहे थे। वह उस वक्त विंग कमांडर थे और श्रीनगर स्थित 51वीं स्‍क्‍वाड्रन का हिस्सा थे। PAK फ्लीट के उड़ान भरते ही IAF ने जेट्स स्क्रैम्बल कर दिए। अभिनंदन मिग-21 लड़ाकू विमान उड़ा रहे थे। पाकिस्तान की तरफ से F-16 जैसे ऐडवांस्ड लड़ाकू विमान भेजे गए थे।

पाकिस्तान भारत के सैन्य ठिकानों पर हमला करने के लिए आया था 

भारत के इस एक्शन को देखकर पाकिस्तान हैरान था। वह भारत के सैन्य ठिकानों पर हमला करने के लिए आया था लेकिन जल्दबाजी में खाली जगहों पर ही बम गिराकर भागने लगा। उन्‍हें खदेड़ कर जब IAF दस्‍ता लौट रहा था तो अभिनंदन ने कहा कि उनके निशाने पर पाकिस्तान का F-16 है। उन्होंने ने अपने मिग-21 लड़ाकू विमान से उस समय के सबसे उन्नत लड़ाकू विमानों में से एक F-16 को मार गिराया। हालांकि, इस कोशिश में वह दुश्मन के इलाके में पहुंच गए थे। उनका प्लेन लाइन ऑफ़ कंट्रोल (LOC) के उस पार जाकर क्रैश हो गया। उन्हें लगा कि शायद वह भारत की सीमा में ही हैं और वहां मौजूद गांव वालों ने भी उन्हें यही बताया, जिसके बाद उन्होंने ‘भारत माता की जय; के नारे लगाए। जिसके बाद गांव वालों ने उनपर हमला कर दिया।

पाकिस्तान ने जारी किए थे अभिनंदन के वीडियो 

इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी रेंजर्स ने अपने कब्जे में ले लिया। वह अभिनंदन के सहारे दुनिया को यह दिखाना चाह रहा था कि भारत उसकी सीमा में घुसा है, लेकिन उसका यह दांव भी उसी पर उल्टा पड़ गया। भारत और दुनिया के दवाब में उसे भारतीय वायुसेना के बहादुर जवान को वापस भेजना पड़ा। हालांकि इसमें लगभग ढाई दिन लगे। इस दौरान पाकिस्‍तान ने एक वीडियो जारी किया जिसमें अभिनंदन के चेहरे पर पिटाई के निशान दिख रहे थे। उसके बाद एक और वीडियो आया जिसमें अभिनंदन को चाय पिलाई गई। अभिनंदन उस वीडियो में कह रहे थे कि उन्हें ठीक से रखा जा रहा है। 

पाकिस्तान की कलई दुनिया के सामने खुल चुकी थी। उसके पास अभिनंदन को वापस भारत भेजने के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचा था। उस समय के पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने जेनेवा संधि के तहत अभिनंदन को भारत को सौंप दिया। अटारी-वाघा बॉर्डर पर अभिनंदन का शानदार अभिनंदन हुआ। अभिनंदन जब भारत आये तो उनका स्वागत एक हीरो की तरह किया गया। वह अपनी शानदार मूंछों के लिए भी जाने गए। उनकी देखादेखी कई लोगों ने उनके स्टाइल में अपनी मूंछे रखवा लीं। 

 

Latest India News



Latest Posts

Subscribe

Don't Miss