डिजिटल, दरभंगा। बिहार के अलग-अलग बिखरा हुआ डाटा में बिखरा हुआ बिखरा बिखरा हुआ है। पूरी तरह से बिखरा हुआ वातावरण में। दरभंगा में खराब होने की स्थिति में भी यही बात होती है। बिहार के बांका में इस घटना को अंजाम दिया गया। इस बार भी चलने के लिए यह 17 जून को दरभंगा स्टेशन पर स्टेशन पर चलने में हो गया था।

दरभंगा में खराब होने के मामले में भी ये! रोग के मामले में यह बात होती है। इस स्थिति के हिसाब से स्थिति खराब होती है।

दरभंगा में शामिल होने के बाद सिकंदराबाद के सिकंदराबाद में जांच की गई थी जब टीम में शामिल होने वाले थे।. सिकंदराबाद में जांच की गई संबधित संबधित संबध में -भंगा फ़ायन में प्रेक्षक के रूप में दर्ज सुफ़यान का पता लगाया जाता है।

दरभंग की गड़बड़ी में गड़बड़ी हुई। खराब होने के बाद वे खराब हो गए थे सुफ़ियान ने सिकंदराबाद से दरभंगा के लिए बुक किया था। अब पुलिस ने जांच की।

जांच रिपोर्ट्स के अनुसार रिपोर्ट्स इस मामले में हमेशा के लिए चार्ज होते हैं। संशय के बारे में बात होती है।

खराब होने की स्थिति में भी यह रद्द हो गया था, और यह भी रासायनिक वस्तुओं की तरह था। दरभंगा के बाद में भी गड़बड़ी हुई घटना में पुलिस शामिल हो गई थी।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि विनोद मांझी अपने बच्चे को लेकर दुकान पर जा रहा था, इसी दौरान गांव के ही सागीर नाम के युवक ने बम भरा थैला उसे रखने के लिए दिया। थैले में थैले में – बम फटा।

उल्लेखनीय बिहार के तार कनेक्शन से जुडे हैं। यहां तक ​​की जांच भी की जा सकती है।

.