<एक href="https://zeenews.india.com/india/icmr-to-study-effectiveness-of-astrazenecas-covishield-and-bharat-biotechs-covaxin-against-covid-19-2364593.html">आईसीएमआर के लिए अध्ययन के प्रभाव Covishield, Covaxin के खिलाफ टीके के गंभीर रूप COVID-19

नई दिल्ली: भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) होगा शुरू करने के लिए एक अध्ययन की जांच की प्रभावशीलता एस्ट्राजेनेका Covishield और भारत बायोटेक के Covaxin अगले सप्ताह से. 

<पी>देश में इन टीकों के लॉन्च के बाद से यह अपनी तरह का पहला अध्ययन है, सर्वेक्षण की जांच करेगा <ए href="http://zeenews.india.com/india/sputnik-v-makers-have-agreed-to-supply-covid-19-vaccine-to-delhi-cm-arvind-kejriwal-2364487.html"लक्ष्य="_ब्लैंक" ><मजबूत>कोविद -19 की प्रगति को गंभीर रूप में रोकने में प्रभावशीलता, पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार ।

तरुण भटनागर, आईसीएमआर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी (एनआईई) चेन्नई में एक वरिष्ठ वैज्ञानिक के अनुसार लगभग 4,000 वर्ष से अधिक आयु के 45 लोग जिन्होंने इन दोनों टीकों में से किसी एक या दोनों खुराक ली है, की समीक्षा की जाएगी ।  

<पी> ” अध्ययन के एक भाग के रूप में हम <ए लेंगे href="http://zeenews.india.com/india/moderna-to-launch-single-dose-covid-19-vaccine-in-india-in-2022-pfizer-ready-to-offer-5-crore-doses-this-year-2364373.html" लक्ष्य= "_ब्लैंक" > <मजबूत>जो लोग कोविद -19 सकारात्मक और अस्पताल में भर्ती हैं और अपनी टीकाकरण स्थिति की तुलना करते हैं उन लोगों के साथ जिन्होंने कोविद नकारात्मक परीक्षण किया है । इसका उद्देश्य यह आकलन करना है कि बीमारी की प्रगति को गंभीर रूप में रोकने में टीकाकरण कितना प्रभावी है,” भटनागर ने पीटीआई को बताया ।

<पी > देश में प्रशासित संचयी वैक्सीन की खुराक अब तक 20 करोड़ को पार कर गई है ।

<पी>सरकार मास्क पहनने और अन्य कोविद प्रोटोकॉल का पालन करने की आवश्यकता पर भी जोर दे रही है ।

<पी>भारत, अब तक, कोविद -19 के खिलाफ तीन टीकों के उपयोग को मंजूरी दे दी है । इनमें पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट का कोविड और भारत बायोटेक का कोवाक्सिन शामिल है ।

<पी>आपातकालीन उपयोग प्राधिकरण के लिए ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआई) से मंजूरी पाने के लिए रूस का स्पुतनिक वी तीसरा वैक्सीन है और अब तक कुछ निजी अस्पतालों में इसका इस्तेमाल किया जा चुका है ।

<एक href="https://zeenews.india.com/live-tv"><मजबूत>टीवी जीना

पर प्रकाशित किया